दिल्ली उपमुख्यमंत्री ने फ्री में किताबें लेने से किया इनकार, कहा 1 हज़ार बचाए तो बेटा हाँथ से निकल जायेगा….

0
777
sisodia
image Source – india Today

इन दिनों दिल्ली के प्रगति मैदान में 22वां दिल्ली पुस्तक मेला चल रहा है, और ऐसे में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी किताबें खरीदने के लिए परिवार के साथ दिल्ली के प्रगति मैदान पहुँच गए |

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया जब हॉल नम्बर 11 में किताबें खरीद रहे थे उसी समय अचानक से उनके सहायक उनके पास आये और बताया कि उनके बेटे करीब 1000 रु की कीमत की किताबे खरीद ली हैं, और प्रकाशक उन किताबों का पैसा नहीं ले रहा इस पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हम पैसे देंगे |

जब एक पत्रकार ने उनसे इस बारे में पूछा तो उन्होंने हँसते हुए कहा आज एक हज़ार रुपये बचाए तो बेटा नहीं बच पायेगा, क्योंकि उसे ये एहसास हो जायेगा कि वह अपने पिता के रसूख का इस्तेमाल कर सकता है, उनोने कहा मै नहीं चाहता कि मेरा बेटा मेरी पोजीशन का गलत प्रयोग करे, और खुद को वी.आई.पी. समझे | दिल्ली के उपमुख्यमंत्री की इस बात से वहाँ खड़े लोगों ने तालियाँ बजाई |

अखंड भारत न्यूज़ दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री की इस सोच की सराहना करता है, और आशा करता है कि देश के सभी नेता दिल्ली उपमुख्यमंत्री की तरह ही अपने रसूख का इस्तेमाल देश सेवा के लिए करें अपने निजी फायदों के लिए नहीं, और अपने बच्चों को भी ऐसी ही शिक्षा दें |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY