सरकार की रोक के बावज़ूद भी चल रहा है अवैध खनन का धंधा

0
128

सोनभद्र(ब्यूरो)- शाहगंज। योगी सरकार के फरमान गुंडाराज व भ्र्ष्टाचार को प्रदेश से मुक्त कर गरीब जनता व फरियादी को न्याय दिलाने में कोई कोताही नहीं की जायेगी, परन्तु ऐसा होता दिख नहीं रहा है। सरकार की रोक के बावजूद भी स्थानीय थाना क्षेत्र में अवैध खनन का खेल पर्दे के पीछे से किया जा है। जो सरकार की मंशाओं पर पानी फेरने का कार्य करने में बराबर साबित हो रहा है ।

बतातें चलें कि स्थानीय थाना क्षेत्र में करीब तीन पत्थर की खदाने चलती है जहां से बोल्डर, सोलिंग, छोटी बड़ी गिट्टियां अवैध तरीके से तोड़कर बिना परमिट के ही पुलिस के संरक्षण में किये जाने का आरोप क्षेत्रीय जन लगा रहे है। तो वहीं दूसरी ओर थाना क्षेत्र में मोरम की खदान तो नहीं है फिर भी खनन माफिया ओबराडीह व मोराही गाँवो से मोरम की खोदाई कर पुलिसिया संरक्षण में महीनों पूर्व से सरकार के राजस्व का भारी नुकशान तो कर ही रहे है| साथ ही नियम व कानून को खिलौना समझ कर अवैध खनन करने में लगे हुये है| इनके सामने ईमानदार पुलिसकर्मियों की भी नहीं चल पा रही है ।
क्योंकि अगर ईमानदार पुलिसकर्मी अवैध पकड़ कर थाने लाते भी है और क़ानूनी कार्रवाई करने की बात की जाती है तो उन्हें बड़े साहब का ही कोपभाजन का शिकार बनना पड़ता है और अवैध खननकर्ताओं को साहब की कृपा से ससम्मान छोड़ दिया जाता है या फिर हल्की फ़ुल्की कार्रवाई, जैसे- ढुलाई करने वाले वाहनों के कागजात को चालान कर खानापूर्ति कर दिया जाता है ताकि कोई भी थाना पुलिस के काले कारनामे के तरफ ऊँगली न उठाये और उनके इस कार्रवाई खेल निरन्तर जारी रहे।

इसी कड़ी में आज सोमवार को सुबह करीब दस बजे के आसपास थाना क्षेत्र के रैपुरा पहाड़ी से एक ट्रैक्टर ट्राली से सोलिंग गिट्टी लाद कर कहीं गिराने जा रहा था कि इसी बीच थाने के एक दरोगा मय हमराही सिपाही के साथ सोलिंग गिट्टी लदे ट्रैक्टर ट्राली को रैपुरा गांव में ही पकड़ लिया और थाने ले आया । इसके बाद उक्त सोलिंग गिट्टी के कागजात की जाँच पड़ताल होने लगी कुछ देर जाँच की कार्रवाई का ड्रामा चला फिर गाड़ी का आरसी0 लेकर चालान की कार्रवाई बता कर सोलिंग गिट्टी लदे ट्रैक्टर को छोड़ दिया गया ।

मजे की बात यह है कि जहां एक तरफ सीएम0 योगी ने तल्ख लहजे में कहा था कि खनन ठेकेदारी करने व् थाने के अधिकारियों तथा कर्मचारियों के ट्रांसफर में नहीं पड़ेंगे भाजपा कार्यकर्ता , और अधिकारियों को ईमानदारी से कार्य करने देंगे परन्तु यहां तो उसके उलट ही कुछ कतिपय सत्ता पक्ष के नेता कहे जाने वाले ही संलिप्त है जो अपने ही सरकार के मंशा पर पानी फेरने में लगे है ।

रिपोर्ट – जमीर अंसारी
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here