भाजपा के राज में बाधित हुआ बलिया का विकास: नारद

0
86

बलिया (ब्यूरो) – योगी सरकार के रहनुमा बलिया की गंगा-जमुनी तहजीब को तार-तार कर जिले में साम्प्रादायिक सद्भाव भड़काने की कोशिश कर रही है, जिसे सपा कभी पूरा नहीं होने देगी। उक्त बाते पूर्व मंत्री नारद राय ने बुधवार को कहीं। वे पार्टी कार्यालय पर पत्रकारों से मुखातिब हो रहे थे। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार के कार्यकाल में बलिया शहर ही नहीं अपितु समूचे जनपद का चहुमुखी विकास हुआ। जिले में मेडिकल कालेज, विश्वविद्यालय, गंगा पार के लोगों के लिए पक्का पुल के अलावा स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिए ट्रामा सेंटर की स्थापना करायी गयी। लेकिन जैसे ही भाजपा प्रदेश की रामगद्दी पर सतासीन हुई बलिया के विकास को अवरू कर दिया गया। उदाहरण देते हुए कहा कि समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से तत्कालीन अखिलेश सरकार ने बकायदा बलिया को जोड़ा था। लेकिन सीएम योगी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से बलिया को वंचित कर दिया।

आरोपिया लहजे में पूर्व मंत्री ने कहा कि इतने से भी जब उनका जी नहीं भरा तो उन्होंने बलिया में बनने के लिए प्रस्तावित मेडिकल कालेज को गाजीपुर जनपद में स्थान्नातरित कर दिया। इसके अलावा सपा सरकार के दौरान बलिया में अस्तित्व में आये जननायक चन्द्रशेखर विश्वविद्यालय को आवंटित की गयी धनराशि भी प्रदेश की भाजपा सरकार ने वापस ले ली। जिस कारण विश्वविद्यालय का आतंरिक विकास अवरू हो गया है। पूर्व मंत्री ने आरोप लगाया कि गंगा नदी पर बन रहे जनेश्वर सेतु के निर्माण को भी योगी सरकार ने बाधित करने का कार्य किया है। जिससे दियरांचल वासियों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कहा कि भाजपा की योगी सरकार राजनीतिक द्वेषवश सपा के नेताओं के खिलाफ आपराधिक मुकदमें दर्ज कर रही है। इसके लिए उसने सीबीसी आडी का दुरूपयोग करना भी आरम्भ कर दिया है। इस जीवंत प्रमाण पूर्व मंत्री सनातन पाण्डेय को चुनावी मुकदमें में आरोपी बनाना है।

सपा के जिलाध्यक्ष संग्राम सिंह यादव ने कहा कि महज 24 घंटे पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से निर्देशों के क्रम में सपा ने बीते दस सितम्बर जनपद की प्रत्येक तहसीलों पर धरना-प्रदर्शन कर सरकार की चूले हिलाने का कार्य किया है। कहा कि आने वाले समय में केन्द्र व प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियॉ को उजागर करने के लिए सपा विशेष अभियान चलायेगी। पूर्व मंत्री सनातन पांडेय ने कहा कि योगी सरकार के राज में विकास का कार्य पूरी तरह ठप्प हो गया और सरकारी कर्मचारी अवैध वसूली में जुट गये है। यही कारण है कि प्रदेश कानून-व्यवस्था बेपटरी हो गयी है। पूर्व मंत्री जियाऊद्दीन रिजवी ने कहा कि भाजपा के लोग साम्प्रदायिकता की आग में समाज को झोंक कर सत्ता हथियाने में माहिर है। उन्होंने कहा कि बीते वर्ष मुहर्रम के जुलूस के दौरान सिंकदरपुर ने दंगा भड़का था। इस बार भी प्रशासनिक निष्क्रिया कुछ वैसे ही हालात बना रखे है। पूर्व विधायक जयप्रकाश अंचल ने कहा कि बैरिया विधानसभा अवैध तस्करी का अडडा बन गया है। वहाँ का भाजपा विधायक और गुर्गे खुलेआम लाल बालू, शराब की अवैध तस्करी करा रहे है। आरोप लगाया कि भाजपा के राज में चहुओंर लूट मची है।

यही कारण है कि एक वर्ष पूर्व करीब 29 करोड़ की लागत से बना दूबेछपरा रिंग बांध बाढ़ का पानी देखते ही जमीदोंज होने लगा है। बिल्थरारोड़ के पूर्व विधायक गोरख पासवान ने आरोप लगाया कि सपा के राज में विधान सभा क्षेत्र में विकास की जो योजनाएँ संचालित थी वो बंद हो गयी है। जिससे इलाके का विकास ठप्प हो गया है। प्रेस वार्ता के दौरान मुख्य रूप से पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ0 विश्राम यादव, जिला प्रवक्ता राजन कन्नौजिया, हरेन्द्र सिंह जयप्रकाश यादव, मुन्ना इरफान अहमद ;सभी विधान सभा अध्यक्षद्ध रामेश्वर पासवान आदि ने जिले की ज्वलंत समस्याओं तथा सरकार की जन विरोधी नीतियों के ऊपर विस्तार से प्रेस वार्ता किया। उक्त अवसर पर प्रभुनाथ यादव अजीत सिंह यादव, श्रीकान्त उर्फ मुन्ना गिरि, कामेश्वर यादव, रविन्द्र नाथ यादव, सुवाष यादव विजय यादव, राकेश यादव आदि उपस्थित रहे।

By-Ajit Ojha

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here