यदु यादव कोश का 12वाँ विमोचन व सम्मान समारोह संपन्न

0
140


मुम्बई(ब्यूरो)
– देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में यादव समाज के दिल्ली के दिग्गज उद्योगति सुदेश यादव की  सिंह गर्जना से यादव समाज एक सूत्र में बँध गया। यदु यादव कोश के विमोचन समारोह में उपस्थित सभी स्वजातीय बंधुओं ने एकता में शक्ति का नारा देकर एक होकर समाज का विकास करने का दृढ़ संकल्प लिया है। सुदेश यादव ने कहा कि आवादी के हिसाब से यादव समाज को हिस्सेदारी नहीं मिल रही है और इसे हम लेकर रहेंगे। तालियों की गड़गड़ाहट के बीच यादव ने कहा कि बिना शिक्षा और एकता के यादव समाज आगे नहीं बढ़ पायेगा। यादव समाज को एक होने की जरुरत है। दरअसल विगत एक दशक से यदु यादव कोश नामक पारिवारिक परिचय पत्रिका का सफर अनवरत जारी है। इस साल पत्रिका का 12वां विमोचन मुंबई के शुभम हॉल स्थित विले पारले में संपन्न हुआ।  कार्यक्रम में समारोह अध्यक्षता की बागडोर आकाश डिग्री कॉलेज के चेयरमैन राजकुमार यादव के हाथों सौंपी गई। जबकि मुख्य अतिथि का दायित्व यादव समाज के सिरमौर और दिल्ली के विख्यात उद्योगपति सुदेश यादव ने निभाया। साथ ही निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख चोलापुर वाराणसी सुभाष यादव के अलावा बिल्डर विजय यादव, सपा नेता डॉ द्रिगेश यादव, बिल्डर सुभाष यादव, डॉ के एस यादव, अवधनारायण यादव, बिल्डर जनार्दन यादव सहित मंच पर कई गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि सुदेश यादव ने यादव समाज को जागृत करके एक नई दिशा दी। उनकी ओजस्वी वाणी से हॉल में बैठे नागरिकों ने करतल ध्वनि से स्वागत किया। सुदेश यादव नें पूरे भारत में यादवों के आंकड़ें प्रस्तुत करके समाज में अपनी जगह स्थापित करने के लिए प्रेरित किया। सुदेश ने कहा कि यादव समाज  भगवान श्रीकृष्ण के वंशज हैं। और इन्हीं को अपना आराध्य देवता मानकर पूजा करें और समाज को शिक्षित करके देश के विकास में अपना अभूतपूर्व योगदान दें। उन्होंने ये भी कहा कि आज यादव समाज जनसंख्या के लिहाज से किसी से कम नहीं है, लेकिन हमारी सत्ता में भागीदारी बहुत कम है। यादव समाज के विकास के लिए मैं हमेशा तत्पर हूं। वहीं समारोह अध्यक्ष राजकुमार यादव के भाषण ने यादव समाज को एक नई ऊर्जा प्रदान कर दी है।

राजकुमार यादव ने समाज के विकास के लिए तन, मन, धन से सेवा करने की बात कही है और कहा कि सुदेश यादव इस सदी के कृष्ण हैं। यदु यादव कोश के प्रधान संपादक एस. एन. यादव ने कोश के बारे में विस्तार से बताया और पिछले 12 साल के अपने अनुभवों का साझा करते हुए कहा कि राह में चुनौतियां बहुत आती है, लेकिन चुनौतियों से पार करना ही मेरा लक्ष्य है। यह यदु यादव कोश ही है जो आज स्वाजातीय बंधुओं के किचन तक पहुंचा है। इस कोश में देश भर के यादवों का पारिवारिक परिचय प्रकाशित किया गया है। देश में यह पहली किताब है जिसमें हर एक परिवार का विस्तार से विवरण प्रकाशित किया जाता है। वहीं एस. एन. यादव ने ये भी बताया कि आज यदु यादव कोश के माध्यम से हर साल तकरीबन 50-60 शादियां संपन्न हो रही हैं। यही हमारी सबसे बड़ी खुशी है। आज शादीडॉट कॉम जैसी व्यावसायिक वेबसाइट उपलब्ध हैं, परंतु यदु यादव कोश पारिवारिक परिचय पत्रिका और यदु यादव कोश शादीडॉट कॉम के माध्यम से नि: शुल्क शादियां हो रही हैं। कार्यक्रम का सफलता पूर्वक संचालन एल. एस यादव और सभाजीत यादव ने किया । इस अवसर पर समाज के हजारों लोग मौजूद रहे ।  अंत में संपादक एस एन यादव ने उपस्थित लोगों के प्रति आभार व्यक्त किया।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY