धूल भरी आंधी से दिन में ही दिखने लगा शाम का नजारा

0
106

समस्तीपुर (ब्यूरो)- शाम के लगभग 4 बजे थे. इसी बीच अचानक धूप की रोशनी समाप्त होने लगी और आकाश में काले बादल दिखाई देने लगे. लगभग 25 मिनट के बाद धूल भरी आंधी इतनी तेज रफ्तार से आयी कि जो जहां था वहीं थम कर अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर ठिकाना तलाशने लगे. लगभग 40 मिनट तक पूरे जिले में यह स्थिति बनी रही. इसके बाद तेज रफ्तार से बारिश के छींटे पड़ने लगे तब जाकर लोगों ने स्वयं को कुछ सामान्य स्थिति में महसूस किया.

इस बीच तेज आंधी के कारण आम एवं लीची की जो फसल थोड़ी—बहुत बची हुई थी, वह भी आज पूरी तरह बर्बाद हो गई. ग्रामीण क्षेत्रों से जो सूचना मिल रही है उसके मुताबिक ज्यादातर झोपड़ी के छप्पर पूरी तरह से उजड़ गए. लोगों ने जितनी देर तक आंधी का सामना किया उनकी सांसें तेज हवा को देखकर रूकी रहीं. आज शादी का लगन भी काफी तेज है. आंधी के कारण शादी समारोहों के लिए शहर में बने सभी पंडाल पूरी तरह से तहस—नहस हो गए.

बारिश के कारण गर्मी से तो लोगों को राहत मिली है लेकिन शहर के निचले इलाके में जल—जमाव की भी स्थिति बन गई है. हालांकि अभी पूरे जिले से नुकसान का डिटेल्स नहीं मिला है. आज की इस आंधी से काफी नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है. आंधी के बाद से शहर का बिजली पूरी तरह से गुल हो गई.

रिपोर्ट- कुमार आशुतोष 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here