धोखाधड़ी कर अपनी भाभी से बैनामा कराने एवं हत्या के प्रयास के अलग-अलग मामलों मुक़दमा दर्ज

0
70

सुल्तानपुर(ब्यूरो)– धोखाधड़ी कर अपनी भाभी से बैनामा कराने एवं हत्या के प्रयास के अलग-अलग मामलों में अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट षष्ठम अनिल कुमार सेठ ने आरोपियो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर विवेचना के लिए थानाध्यक्ष गौरीगंज व गोसाईगंज को आदेशित किया है।

पहला मामला गौरीगंज थाना क्षेत्र के दयालापुर मजरे जगदीशपुर गाँव का है, जहां की रहने वाली राजकुमारी पत्नी स्वर्गीय सुनील कुमार ने 28 मार्च 2016 की घटना बताते हुए अदालत में अर्जी दी। आरोप के मुताबिक उसके पति की मौत के बाद सारी आराजी उसके और उसकी पुत्री के नाम आ गई । जिसे उसके देवर अनिल कुमार ने आधार कार्ड बनवाने के बहाने ले जाकर सहआरोपी राजाराम, जगप्रसाद, वेदप्रकाश निवासीगण दयालापुर व दस्तावेज लेखक दिनेश दूबे-तहसील प्रांगण गौरीगंज की मदद से धोखाधड़ी कर बैनामा करा लिया और उसे व उसकी पुत्री का अपहरण कर लुधियाना लेकर चले गए। जिसके भाई रामअचल ने काफी तलाश के बाद पुलिस की मदद से उन्हें आरोपियों के चंगुल से मुक्त कराया। इस मामले में न्यायाधीश अनिल सेठ ने आरोपी देवर समेत अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं।

दूसरा मामला गोसाईगंज थाना क्षेत्र के इनायतपुर का है।जहाँ के रहने वाले अभियोगी सिरताज खान का आरोप है कि उसके बेटे व आरोपी जब्बीर के बीच मुंबई में कुछ कहा सुनी हो गई थी, इसी रंजिश को लेकर बीते तारीख को द्वारिकागंज रेलवे स्टेशन के पास उसे बाइक से आते समय सफारी सवार 10 नामजद व उनके अज्ञात साथियों ने रोक लिया और जान से मारने के लिए तमंचे से फायर कर जानलेवा हमला किया। फिलहाल इस दौरान अभियोगी ने भागकर व झाड़ियों में छिप कर किसी तरीके से अपनी जान बचाई। मामले में न्यायाधीश अनिल कुमार सेठ ने सभी आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर विवेचना के लिए गोसाईगंज थानाध्यक्ष को आदेशित किया है।

रिपोर्ट- संतोष कुमार यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY