जनता को दिया जाए केंद्र की योजनाओं का सीधा लाभ एवं उनकी समस्याओं का तुरंत किया जाए निस्तारण-प्रमुख सचिव नवनीत सहगल

0
89

रायबरेली (ब्यूरो) – प्रदेश के प्रमुख सचिव, खादी एवं ग्रामोद्योग/नोडल अधिकारी जनपद नवनीत कुमार सहगल ने सभी जनपदीय अधिकारियों के साथ बचत भवन में जनपद के विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि विकास व निर्माण कार्यो को युद्ध स्तर पर पूरा किया जाये। प्रमुख सचिव ने कहा कि अधिकारी अपने विभागीय कार्यो में तेजी लाये तथा लक्ष्य के अनुरूप कार्यो को पूरा करें निर्देश दिये कि विकास सम्बन्धित कार्यो को युद्ध स्तर पर पूरा करें। प्रमुख सचिव ने अधिकारियों को आमजन की समस्याओं के प्रति संवेदनशील रहने व उनकी समस्याओं का निस्तारण युद्ध स्तर पर करने के दिये तथा जनपद में कानून व शान्ति व्यवस्था को दुरूस्त रखने के साथ ही अपराध को प्रभावी तरीके से नियंत्रण करने के निर्देश दिये। उन्होंने ने कहा कि मनरेगा के माध्यम से आपरेशन कायाकल्प योजनाओं के तहत कार्य पूरे करा लिये जाये। डीसी मनरेगा द्वारा बताया गया कि लेबर बजट 107 करोड़ है 57 करोड़ खर्च कर दिये है।

इस पर प्रमुख सचिव ने डीसी मनरेगा को निर्देश दिये कि ग्राम्य विकास, मनरेगा का अभी लगभग 57 करोड़ रूपया खर्च करने के लिए जो की एक बड़ी राशि है जो खर्च के लिए पड़ा हुआ है विभिन्न विभागों, बेसिक शिक्षा आदि से सम्पर्क कर उनके विद्यालयों में जहां जलभराव है बाउन्ड्रीवाल टुटी हुई है उनको दुरूस्त करावा दें। मेरे द्वारा गत दिवस पूर्व महाविद्यालय दरियागंज का निरीक्षण किया गया था। जहां विद्यालय में जलभराव था जिसमें सिर्फ मिट्टी भराव कराकर इस तरह की समस्याओं का निदान डीसी मनरेगा करें। बैठक में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजनान्तर्गत अधिशाषी अभियन्ता पीएफजीएसवाई को निर्देश दिये कि वे 15 अक्टूबर से पूर्व जनपद की सड़कों को गढ्ढा मुक्त प्रत्येक दशा में कर दे। जलनिगम के अधिशाषी अभियन्ता निर्माणाधीन परियोजनाओं को युद्ध स्तर पर पूरा करें तथा यह भी बताये कि उनकी पेयजल परियोजना है तथा उनकी अद्यतन स्थिति क्या है|

प्रमुख सचिव ने मुख्य चिकित्साधिकारी जेएसवाई का भुगतान व टीकाकरण के कार्य में लक्ष्य के अनुरूप प्रगति लाये जाने के निर्देश दिये है तथा मातृ शिशु चिकित्सा केन्द्र जिला अस्पताल में हृदय रोग विंग तथा महिला अस्पताल में वेटनेटविंग आदि को प्रभावी तरीके से दुरूस्त तथा सम्बन्धित व्यवस्थाओं को दुरूस्त रखे के निर्देश दिये। जननी सुरक्षा योजनाओं में लाभार्थियों को भुगतान विलम्ब से हो रहा है। एक – एक महीने का पेमेन्ट नही हो पा रहे है जिनके स्तर से जननी सुरक्षा योजना का पेमेन्ट में विलम्ब हो रहा है उनके विरूद्ध सीएमओं कार्यवाही करें।प्रमुख सचिव ने कहा कि जनपद में कानून व शान्ति व्यवस्था को दुरूस्त रखने के साथ ही अपराध को प्रभावी तरीके से नियंत्रण किया जाये तथा अपराधियों, भू-माफियों के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाये। उन्होंने भू-माफियों व अवैध कब्जेधारको पर ऐसी कड़ी कार्यवाही की जाये जिससे की उनको सबक मिले और जनता में एक अच्छा संदेश जाये।

उन्होंने जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री व पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिये कि एक अभियान चलाकर अवैध कब्जाधारको के विरूद्ध कठोर कार्यवाही करें। जिन लोगों की जमीन का पट्टा किया गया है उनको उनके पट्टे पर कब्जा दिलाया जाये। सभी तहसीलदारों, एसडीएम से इस आशय का प्रमाण पत्र भी ले लिया जाये कि हमने सभी पट्टाधारको को पट्टा दिलवा दिया है। उसके बाद जिनकी पट्टो पर कब्जे पर शिकायत आती है उनको जिला स्तर पर बुलाकर उनकी शिकायतों का निस्तारण भी करें। अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे आईजीआरएस, सम्पूर्ण समाधान दिवस, थाना दिवस में फरियादियों की शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता एवं मानक के अनुसार करें। थाना ब्लाक पर निस्तारित समस्याओं का फरियादी से पूछ कर उसका फीड बैक भी लें। उन्होंने ने कहा कि आकड़ों में आगे रहने के साथ ही जमीन पर भी हकीकत दिखनी चाहिए। सुधार और प्रगति की गुंजाईश हमेशा रहती है जिसको निरंतर कर आगे बढते रहना चाहिए।

उन्होंने कहा सरकार के विकास के कार्यो को सरकार की मंशा के अनुरूप पूर्ण मन योग निष्ठा व ईमानदारी तथा सहभागिता के साथ करना चाहिए। जो भी समस्या हो उसको अवश्य बताए ताकि उसका निस्तारण समयबद्ध तरीके से किया जा सके। उन्होंने सभी एसडीएम तहसीलदारों को निर्देश दिये कि वे जनपद में आय, जाति, निवास, खतौनी से सम्बन्धित कार्यो को किसी भी दशा में लम्बित न रखे जो भी प्रमाण पत्र लम्बित है उन्हें तत्काल बनाकर आमजन जिन्होंने ने आवेदन कर रखा हो उन्हें मुहईया कराये।प्रमुख सचिव ने कहा कि अपनी कार्य योजना तैयार व उसको स्वीकृत करा, विकास व निर्माण कार्यो को शासन की मंशा के अनुसार युद्ध स्तर पर पूरा कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने ने कहा विकास निर्माण कार्यो के क्रियान्वयन में गुणवत्ता व मानक से किसी भी प्रकार का समझौता नही किया जायेगा। उन्होंने राजस्व विभाग की समीक्षा करते हुए एडीएम सहित सभी एसडीएम तहसीलदारों को निर्देश दिये कि राजस्व विभागों के निस्तारण में प्रगाति लाये तथा सबसे पुरानावाद सबसे पहले निस्तारण करें।

इसके अलावा राजस्व वृद्धि में भी लक्ष्य के अनुरूप की जाये। प्रमुख सचिव ने यह भी निर्देश दिये कि जनपद में कानून व शान्ति व्यवस्था को प्रत्येक दशा में दुरूस्त रखें। उन्होंने पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह से जनपद की कानून व्यवस्था की जानकारी प्राप्त कर पूरी तरह से सर्तक रहने के निर्देश साथ ही अपराधों पर प्रभावी तरीके से अंकुश लगाये तथा असमाजिक तत्वों को चिन्हित कर निरंतर कार्यवाही करती रहें। इसी बीच प्रमुख सचिव ने 181 महिला हेल्पलाइन की हकीकत को भी परखा जिस पर एसडीएम शालिनी प्रभाकर ने अपने को विक्षिप्त महिला बताकर डायल कर मद्द की गुहार की। इस पर 20 मिनट बाद 181 फील्ड कन्सटेण्ट श्रद्धा भदौरिया यू0पी0 32 ईएन 9718 मौके पर पहुची तथा स्थिति को समझा। घटना की रियलटीटेस्ट पर श्रद्धा प्रमुख सचिव ने धन्यवाद दिया तथा सभी डायल सेवा के कर्मचारियों को निर्देश दिये कि वे अपने कार्यो में तत्काल, तत्परता व गतिशीलता लाए।

पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह ने समीक्षा के दौरान प्रमुख सचिव को बताया कि जनपद की पुलिस ने विशेष सर्तकता व चौकसी के साथ अपराधी को तत्काल पकड़वाने में मद्द करने का पूरा प्रयास कर रही है तथा अपराधो के ग्राफ में दिन प्रति-दिन कमी लाने का प्रयास किया जा रहा है। हमारी पुलिस टीम अपराधों पर गम्भीरता से निगरानी रखती है और गत वर्षो से इस पर लगातार समीक्षा भी की जा रही है। स्कूल कालिजो में एण्टी रोमियों दल को भी पूरी तरह से सर्तक कर दिया गया। जपनद में परिणाम निरंतर बेहतर हो रहे है। प्रमुख सचिव ने लोक निर्माण सहित कई अधिशाषी अभियान्ताओं को निर्देश दिये है कि गढ्ढा मुक्त का लक्ष्य शतप्रतिशत पूर्ण करें जिस पर लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियन्ता ने बताया कि बरसात के कारण पुनः गढ्ढे हो गये थे जिसे शीघ्र गढ्ढा मुक्त पर कार्य कर लिया जायेगा। उन्होंने ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सरकार की लाभ परक और कल्याणकारी योजनाओं की अधिकारी जानकारी देकर पात्र को लाभ दिलाने में आगे आये।

कृषकों को सिंचाई के लिए पर्याप्त साधन उपलब्ध कराने के साथ ही जनपद में उच्च गुणवत्ता के बीच व खाद उपलब्धता बने रहने के साथ ही नहरों के पानी को टेल तक पहुचाये जाने की कार्यवाही की जाये। उन्होंने उद्यान विभाग के अधिकारी को आम आदि फलदार पेड़ लगाने के साथ ही सीबीओ को पशु धन में वृद्धि के निर्देश दिये। उन्होंने अधिशाषी अधिकारी को निर्देश दिये कि जलभराव की समस्या का निराकरण कराये तथा समाज कल्याण अधिकारी एवं अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी को निर्देश दिये कि वे सरकार के कल्याणकारी कार्यक्रमों के लम्बित प्रकरणों का निस्तारण समय से कर लें। उन्होंने समाज कल्याण, विक्लांग कल्याण, दिव्यांगजन कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, डीपीओ आदि अधिकारियों का निर्देश दिये कि वे कैम्प लगाकर पेंशन, छात्रवृत्ति, विधवा पेंशन, शादी अनुदान आदि योजनाओं का निस्तारण करें। इस मौके पर अन्य विभागों के भी समीक्षा की गई। जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री, पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह, मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार, एडीएम वि0रा0, डॉ0 राजेश कुमार प्रजापति, एडीएम प्रशासन, राम अभिलाष, नगर मजिस्ट्रेट चन्द्र प्रकाश पाण्डेय, एडी सूचना प्रमोद कुमार, एसीएमओ डा0 चक, परियोजना निर्देशक प्रेमचन्द्र पटेल, जिला विकास अधिकारी, डीपीआरओ, डीपीओ, अधिशाषी अभियान्ता विद्युत, लोक निर्माण, जलनिगम, सिचाई आदि जनपदीय स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

रिपोर्ट – प्रशांत त्रिपाठी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here