छात्रा के अपहरण एवं गोलीबारी के मामले का हुआ खुलासा

0
34
विभूतिपुर/समस्तीपुर (ब्यूरो)- थाना क्षेत्र के समर्था कल्याणपुर गांव में विगत 8 अगस्त को हुई गोलीबारी एवं 8 वर्षीया छात्रा के अपहरण मामले का पुलिस ने गुरुवार को खुलासा किया है| तेजाब हत्याकांड से बचने के लिए चाचा एवं माँ ने ही गहरी साजिश रची थी| विभूतिपुर थाना परिसर में संवाददाता से बातचीत करते हुए एसडीपीओ अजीत कुमार ने बताया 8 अगस्त की रात्रि में सूचना मिला कि विभूतिपुर थाना क्षेत्र के समर्था कल्याणपुर गांव स्थित बिशनपुर टोला में भकरोहर पुल के पास एक व्यक्ति को अपराधियों के द्वारा गोली मार घायल कर दिया गया है तथा उनकी 8 वर्षीया भतीजी का अपराधियों ने अगवा कर लिया है|
घटना की गंभीरता को देखते हुए सूचना पर पुलिस अधीक्षक महोदय के दिए गए निर्देश के अनुसार एक जांच टीम गठित की गई, जिसमें एसडीपीओ रोसड़ा अजीत कुमार, थाना अध्यक्ष विभूतिपुर संजीत कुमार, थाना अध्यक्ष रोसड़ा चतुर्वेदी, सुधीर कुमार के साथ एक टीम गठित की गई| इस टीम का नेतृत्व एसडीपीओ रोसड़ा कर रहे थे| उनके द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण कर ग्रामीणों से वार्ता में आस-पास जगह—जगह छापेमारी कर नामजद आरोपी अमरजीत राय, संजीत राय, रंजीत राय, राम विनोद राय, दीपक राय से पूछताछ कर अपने हिरासत में लिया गया| उसके बाद घायल अभियुक्त गौरी शंकर राय जिसका इलाज जख्मी अवस्था में दलसिंहसराय से रेफर कर बेगूसराय के निजी अस्पताल में चल रहा था, वहां पहुंचकर जानकारी ली|
वहां एक संदिग्ध व्यक्ति की तलाशी ली गई, जिससे दो जिंदा कारतूस बरामद किए गए| संदिग्ध व्यक्ति से पूछताछ किए जाने पर उसने बताया कि घायल गौरी शंकर राय ने ही यह गोली मुझे दिया था| पुलिस गौरी शंकर राय से भी गहन पूछताछ की गई एवं अपहृता बच्ची की मां से भी पूछताछ की गई| पूछताछ के दौरान दोनों में अंतर पाकर सशक्त हुई पुलिस ने कड़ा रुख अपनाते हुए जब पूछताछ कि तो दोनों ने अपने किए गए षड्यंत्र को स्वीकार करते हुए लड़की को अपने रिश्तेदार के घर छुपाकर रखने एवं सभी नामजद अभियुक्त को फंसाने की बात स्वीकार किया| पुलिस गौरी शंकर के बयान के आधार पर मिले ठिकानों पर छापा मारकर अपहृत बच्ची को मिले ठिकाने से बरामद कर लिया गया है|
एसडीपीओ ने बताया कि गौरी शंकर ने अंगार घाट थाना क्षेत्र के सरिता निवासी अमरेश राय को फेंकने के लिए दिया था तथा गौरी शंकर ने तेजाब हत्याकांड में संधि कराने के लिए भी अथक प्रयास किया था जो असफल रहा|
रिपोर्ट- आर. कुमार 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY