स्कूल पर लगा दलित बच्चों से भेदभाव का आरोप

0
200


पुरवा (उन्नाव) – रामकली बुद्धीलाल साहू विद्यालय मे दलित समाज के बच्चो के साथ होता है भेदभाव विद्यालय मे बच्चो के साथ किया जाता है अमानवीय व्यवहार जो ब्रिटिश सम्राज की याद दिलाता है विद्यालय के प्रबन्धक जिसके पास अकूत सम्पत्ति होने के कारण विद्यालय के टीचर व प्रधानाचार्य से लेकर चपरासी तक मगरूर व अहंकारी होने का सबूत पेश करते है जहां एक पीड़ित दलित ने एस0डी0एम0 व कोतवाली में शिकायती पत्र देकर जिलाधिकारी से जरिये फोन पर बात कर कार्यवाही की मांग की है।

प्राप्त विवरण के अनुसार मामला नगर से सटे पुरवा मौरावां मार्ग स्थित रामकली बुद्धीलाल साहू विद्यालय का है जहां एक दलित समाज का शिवगुलाम चैधरी नाम युवक निवासी ग्राम देवमई थाना मौरावां ने अपने दिये गये शिकायती पत्र में बताया कि हमारे दो बच्चे रामकली बुद्धीलाल साहू विद्यालय में पढ़ते है जिसमे गौरव कक्षा 6, सगुन कक्षा2, शिवगुलाम के अनुसार विद्यालय द्वारा एक नोटिस 22 फरवरी को मिली कि आप अपने बच्चो की फीस जमा कर दें। जिस पर दलित शिवगुलाम चैधरी ने 23 फरवरी को 8 हजार चार सौ 40 रूपया जमा कर दिया और फीस जमा करने की रसीद भी प्राप्त कर ली परन्तु 24 फरवरी को जब गौरव व सगुन विद्यालय पहुंचे तो क्लास टीचरो ने दलित बच्चो को क्लास के बाहर तीन घण्टे खड़ा रखा और उक्त बच्चो को अन्य बच्चो के सामने जलील किया जिस पर बच्चो ने घर पहुंच कर रोते हुए सारा वाक्या अपने माता पिता को सुनाया बच्चो की बात सुनकर शिवगुलाम चैधरी विद्यालय आये और विद्यालय की प्रधानाचार्य अनुपमा वैश्य से मिलकर अपनी तथा बच्चों की पीड़ा बयां की जिस पर शिवगुलाम के अनुसार प्रधानाचार्य का जवाब अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रम्प जैसा था उन्होने सीधे कहा कि हम विद्यालय अपने ढ़ंग से चलाते है और विद्यालय से बाहर जाने को कहते हुए कहा जाव तुमको जो करते बने कर लो जाकर जहां पीड़ित ने एस0डी0एम0 राजमुनि यादव व कोतवाली प्रभारी कौशलेन्द्र नाथ सिंह से मिलकर शिकायती पत्र दिया इसके अतिरिक्त दलित शिवगुलाम ने जिलाधिकारी आदिति सिंह से जरिये मोबाइल पर बात कर विद्यालय की अहंकारी प्रधानाचार्य के विरूद्ध कार्यवाही कराने की फरियाद की जिस पर जिलाधिकारी ने नायब तहसीलदार विचित्र नरायण श्रीवास्तव व इन्स्पेक्टर कोतवाली को जांच के आदेश दिये है हालांकि विद्यालय ऐसे कार्याें में पहले से चर्चा मे है कुछ दिन पहले इसी विद्यालय में नगर के टेढ़ीहटिया निवासी इस्लाम अली उर्फ मुन्ना के बच्चे को इतनी बेरहमी से पीटा गया था कि उसकी नाक से खून का फौंवारा निकल पड़ा था और खून से लथपथ बच्चे को वही विद्यालय मे तीन घण्टे तक लेटाये रहे उसका इलाज तक नही कराया गया था मामला कोतवाली भी पहुंचा था पर बाद में मैनेज हो गया था।

रिपोर्ट – मोहम्मद अहमद

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here