विवादों में रहीं जालौन डीएम का हुआ स्थानांतरण 

0
112

उरई(जालौन ब्यूरो)- अपने एक साल के कार्यकाल के दौरान लगातार विवादों में रहीं जालौन डीएम संदीप कौर का आखिरकार स्थानांतरण हो ही गया। अपने कार्यकाल के दौरान अवैध खनन, शिक्षकों के स्थानांतरण, राहत पैकेट वितरण आदि के मामलों में उनकी कार्यशैली पर कई सवाल उठे और उन पर दबी जुबान से आरोपों की बौछार भी हुई। अब उन्हें स्थानांतरित कर आईएएस नरेंद्र शंकर पांडेय को जनपद जालौन का नया डीएम बनाया गया है।

गौरतलब है कि आईएएस संदीप कौर को बीते वर्ष 29 मार्च 2016 को जनपद जालौन का जिलाधिकारी बनाया था। चार्ज लेते वक्त उन्हेांने सिस्टम की गडबडी ठीक करने और सरकार की मंशानुसार काम करने की बात कही थी पर एक साल के कार्यकाल के दौरान उनकी ही कार्यशैली सवालों के घेरे में आ गई। जिले में बडे पैमाने पर हुए अवैध खनन के मामले में उनकी चुप्पी लगातार चर्चा का विषय बनी रही। कहा तो यहां तक गया कि उनकी ही शह पर जिले में अवैध खनन का कारोबार संचालित हो रहा है। इसके अलावा पूर्व की सपा सरकार द्वारा गरीबों को बांटे गए राहत पैकेट के मामले में भी बडा घालमेल किया गया था। एक विशेष क्षेत्र के ठेकेदार को राहत पैकेट बांटने का ठेका दिया गया था। जिसमें घटिया किस्म की सामग्री पात्रों को बांटकर सरकारी धन का बंदरबांट किया गया था। इस मामले में भी जिलाधिकारी ने चुप्पी साधे रखी और सरकारी धन का बंदरबांट होता रहा। इसके अलावा हाल ही में जिले में बडे पैमाने पर हुए शिक्षकों के स्थानांतरण मामले ने काफी तूल पकडा था। नियमों को ताक पर रखकर 42 ऐसे शिक्षकों का स्थानांतरण उनके मन मुताबिक कर दिया गया था जिसके वह पात्र ही नहीं थे। इन स्थानांरण में सीडीओ का अनुमोदन कराने की भी जरुरत महसूस नहीं की गई थी।

सूत्रों की मानें तो प्रत्येक स्थानांतरण में करीब 70 से 90 हजार रुपए बतौर सुविधा शुल्क ली गई थी। लाखों के वारे-न्यारे होने के बाद सभी नियम कायदों को किनारे रख शिक्षकों का स्थानांतरण कर दिया गया था। मामले के काफी तूल पकडने के बाद भी जिलाधिकारी द्वारा सवालों के घेरे में आए बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियेां व कर्मचारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। इसके अलावा और भी कई मामले में जिसमें जिलाधिकारी का रुख स्पष्ट न होने के कारण उन पर ही सवाल उठने लगे। इसके चलते अब शासन ने उनका स्थानांतरण कृषि उत्पादन शाखा विशेष सचिव के पद पर कर दिया है। उनकी जगह पर वित्त विभाग लखनउ में विशेष सचिव के पद पर तैनात नरेंद्र शंकर पांडेय को जालौन का नया जिलाधिकारी बनाया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार नरेंद्र शंकर पांडेय वर्ष 2009 में पीसीएस से आईएएस में प्रमोट हुए थे। हालांकि नए जिलाधिकारी ने अभी चार्ज ग्रहण नहीं किया है। संभावना है कि बुधवार को वह जिले का चार्ज लेंगे।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY