बहुचर्चित अधिवक्ता हत्याकांड में जिला न्यायाधीश ने की जमानत अर्जी खारिज

0
57

rt
सुलतानपुर ब्यूरो : बहुचर्चित अधिवक्ता हत्याकांड में आरोपी शूटर सहित तीन लोगो की तरफ से जिला जज की अदालत में जमानत अर्जी पेश की गई। जिस पर सुनवाई के पश्चात जिला न्यायाधीश प्रमोद कुमार ने सभी की जमानत अर्जी खारिज कर दी।

मालूम हो कि कोतवाली नगर क्षेत्र के रामनगरकोटवा निवासी अधिवक्ता विजय प्रताप सिंह को बीते 28 अक्टूबर को कोर्ट आते समय घात लगाये बैठे हमलावरों ने गोली मार दी थी,जिनकी लखनऊ में ईलाज के दौरान मौत हो गई।इस घटना के सम्बंध में उनके भाई मनोज कुमार सिंह की तहरीर पर हिस्ट्रीशीटर जीतेन्द्र सिंह मुन्ना,उसके भाई शारदा प्रताप सिंह उर्फ राजा बाबू के जरिये जेल से साजिश रचकर हत्या कराने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया।पुलिस की तफ्तीश में भी हत्या का तार जेल से ही जुड़ा पाया गया।मामले में साजिशकर्ता हिस्ट्रीशीटर भाइयो जीतेन्द्र सिंह मुन्ना व शारदा प्रताप के अलावा शूटर सूरज यादव,मोहित मिश्र, विष्णु द्विवेदी समेत अन्य का नाम प्रकाश में आया।

इसी मामले में शनिवार को शूटर सूरज सहआरोपी मोहित मिश्र व विष्णु द्विवेदी की तरफ से जिला एवं सत्र न्यायालय में प्रस्तुत जमानत अर्जी पर सुनवाई चली।इस दौरान बचाव पक्ष ने आरोपो को निराधार बताते हुए जमानत स्वीकार करने की मांग की,वहीं जिला शासकीय अधिवक्ता शुकदेव यादव ने इन आरोपियो की अधिवक्ता की हत्या में अहम भूमिका बताते हुए जमानत पर विरोध जताया।तत्पश्चात जिला न्यायाधीश प्रमोद कुमार ने तीनों आरोपियों पर लगे आरोप को अत्यंत गम्भीर मानते हुए जमानत अर्जी ख़ारिज कर दी है।

रिपोर्ट – संतोष कुमार यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY