जिलाधिकारी ने बाँध मरम्मत व कटानरोधी कार्य का किया निरीक्षण

बलिया: जिला अधिकारी सुरेंद्र विक्रम ने बुधवार को दुबेछपरा बंधा निर्माण व कटानरोधी कार्यों का औचक निरीक्षण किया।  उन्होंने कार्य की रफ्तार तेज करने के साथ 30 जून तक पूरा कर लेने के निर्देश दिए । उन्होंने कहा कि यह कार्य लोगो के घर जमीन को बचाने से जुड़ा है, लिहाजा काम की गुणवत्ता बेहतर होनी चाहिए। समय को देखते हुए बंधा निर्माण, मरम्मत व पिचिंग का काम साथ-साथ करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी बुधवार को बारिस के बीच पचरूखिया, हुक़ूमछपरा व गंगापुर नई बस्ती डेंजर जोन को देखने के बाद एक्सईएन बाढ़ को निर्देश दिया कि जरूरत के हिसाब से कार्य ऐसा कराएं कि कटान रोकी जा सके । एनएच के अधिकारियों से सम्पर्क कर सि देख लें कि कटान से मुख्य सड़क प्रभावित नही होनी चाहिए । जरूरत के हिसाब से पिचिंग कार्य करा लें।

अन्य विभाग के तकनीकी इंजीनियरों को साथ लेकर जिलाधिकारी दुबेछपरा रिंग बंधे पर हो रहे कार्य स्थल पर पहुँचे । हर तरफ जाकर बारीकी से कार्य की गुणवत्ता परखी। निर्देश दिया कि बंधा पर कार्य व नदी किनारे पिचिंग आदि का कार्य साथ-साथ हो, ताकि समय रहते कटान पर काबू पाया जा सके ।  उन्होंनेे हो रहे धीमे कार्य को तेज करने का निर्देश दिया। कहा कि जितना सम्भव हो सके, लेबर बढ़ाएं। हप्ते भर में अच्छी प्रगति दिखनी चाहिए। ठेकेदारों से भी बातचीत कर गुणवत्ता का विशेष ख्याल रखने को कहा।

बैरिया तहसील व थाने का भी लिया जायजा-
जिलाधिकारी ने बैरिया क्षेत्र में भ्रमण के दौरान बैरिया तहसील व थाना का भी निरीक्षण किया। तहसील पर अभिलेखों व वसूली से सम्बन्धित सटीक जानकारी नही होने पर तहसीलदार मिश्री सिंह चौहान को खरी-खोटी भी सुनाई। उन्होंने सचेत किया कि वसूली की प्रगति बढ़ाने के साथ धनराशि का सदुपयोग कर तहसील की व्यवस्था में सुधार लाएं। वायरिंग, पानी की व्यवस्था, भवन की रंगाई-पुताई, इंटरनेट व अन्य जरूरी चीजों को हमेशा बेहतर रखने का सख्त निर्देश दिया । अभिलेखागार आदि में जाकर अभिलेखों के रखरखाव को देखा। नीचे जमीन पर रखें अभिलेख देख नाराजगी जताई । इसके बाद थाने पर पहुँचे जिलाधिकारी ने साफ-सफाई की व्यवस्था संतोष जाहिर किया। थानाध्यक्ष से कहा कि थाने में किसी प्रकार की आवश्यकता हो तो बताएं। एसओ की मांग पर थाने में बाउंड्री निर्माण व पानी की व्यवस्था कराने का भरोसा दिलाया। सभी प्रकार के अभिलेखों को भी देखा । इसके बाद निर्माणाधीन पुरुष व महिला बैरक की गुणवत्ता का जायजा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here