जनपद स्तरीय तीन दिवसीय अन्त्योदय मेला का मा. मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने किया उद्घाटन

0
136

बहराइच(ब्यूरो)- पं. दीन दयाल उपाध्याय जी के जन्म शताब्दी वर्ष के अवसर पर जनपद स्तर पर महिला डिग्री कालेज में आयोजित तीन दिवसीय अन्त्योदय मेला एवं प्रदर्शनी का उद्घाटन प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन समन्वय मंत्री/जनपद प्रभारी मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा फीता काटकर व दीप प्रज्ज्वलितकर किया गया। इसके पश्चात मा. मंत्री श्री मौर्य ने विधायक महसी सुरेश्वर सिंह, पयागपुर सुभाष त्रिपाठी, बलहा अक्षयबर लाल गौड़, भाजपा जिला अध्यक्ष श्यामकरन टेकड़ीवाल, पूर्व सांसद पद्मसेन चैधरी, पूर्व विधायक दिलीप कुमार वर्मा, सहकारित मंत्री के प्रतिनिधि गौरव वर्मा व अन्य गणमान्यजन, जिलाधिकारी अजय दीप सिंह, मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार, एसपी नगर कमलेश दीक्षित व अन्य के साथ विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये प्रदर्शनी पण्डालों का अवलोकन किया।

इस अवसर पर आयोजित किसान दिवस को सम्बोधित करते हुए मा. मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य नेे कहा कि पं दीन दयाल उपाध्याय जी के जन्म शताब्दी वर्ष के अवसर पर जनपद में भव्य आयोजन कराये जाने पर जिलाधिकारी को बधाई दी। यहां पर कृषि आधारित पण्डाल बहुत ही प्रभावी ढ़ंग से लगाये गये हैं। इसके अलावा व्यवहारिक जीवन से सम्बन्धित पण्डाल लगाये गये हैं। उन्होंने कहा कि बहराइच एक ऐतिहासिक जगह है यहां पर हिन्दू-मुस्लिम दोनों समुदायों के  आस्था का केन्द्र भी है। कृषि के क्षेत्र में भी जनपद अग्रणी भूमिका निभा रहा है। यहां की मिट्टी काफी उपजाऊ है जिससे सभी प्रकार के फसल उगाया जा रहा है। जिले के मिहींपुरवा क्षेत्र में परवल, हल्दी व मसाले की अच्छी खेती की जा रही है जो बाहर भी भेजा जाता है। अन्य जिलों के तुलना में बहराइच जनपद कृषि के क्षेत्र में आगे है जिसके लिए यहां के कृषि से जुडे़ अधिकारी व कृषि वैज्ञानिक बधाई के पात्र हैं।

यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के सबका साथ सबका विकास के नारे के साथ देश व प्रदेश आगे बढ़ रहा है। कर्मयोगी प्रधानमंत्री के निर्देशन में प्रदेश में किसानों के कर्जमाफी का ऐतिहासिक निर्णय लिया गया है। संकल्प पत्र में किये गये वादों को पूरा किया जा रहा है। प्रदेश में कृषि विकास के लिए स्वच्छ वातावरण विकसित किया जा रहा है जिसका लाभ भविष्य में किसानों को मिलने लगेगा।

जिलाधिकारी अजय दीप सिंह ने कहा कि शासन के निर्देश पर पं दीन दयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में तीन दिवसीय अन्त्योदय मेला एवं प्रदर्शनी का अयोजन किया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य है कि भारत सरकार व उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों का व्यापक प्रचार प्रसार हो जिससे आम जनता इस योजनाओं एवं कार्यक्रमों का भरपूर लाभ उठा सके। प्रथम दिन कृषि को फोकस करते हुए कृषि पर आधारित विभिन्न विभागों द्वारा भव्य प्रदर्शनी पण्डाल लगाये गये हैं ताकि आमजन मानस इन प्रदर्शनी पण्डालों के माध्यम से सरकार द्वारा संचालित योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी प्राप्त कर सके।

उन्होंने बताया कि जनपद में विकास खण्डवार कृषि गोष्ठियों का आयोजन किया जा रहा है जिसमें मा. मंत्री व विधायकगण भी सम्मिलित हो रहे है। जिले में कृषकों का पंजीकरण तेजी से बढ़कर 301979 हो गया है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत रू. 9.53 करोड़ की क्षतिपूर्ति प्राप्त हुई है। जनपद में 12 फार्ममशीनरी बैंक स्थापित किये गये हैं। बीज वितरण का कार्य प्रगति पर है। मृदा स्वास्थ्य भी बांटे जा रहे हैं। हिसार हरियाणा एवं फैजाबाद में कृषकों का अध्ययन भ्रमण कराया गया है। जनपद में 34 एग्रीजंक्शन केन्द्रों की स्थापना हो चुकी है, 17 इस वर्ष स्थापना किया जाना है। जनपद के 7 कृषकों को प्रदेश स्तर पर सम्मानित किया गया है। इसी प्रकार उन्होंने उद्यान, पशुपालन, रेशम, गन्ना आदि विभागों द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की। इसके अलावा कार्यक्रम को अन्य लोंगो ने भी सम्बोधित किया।

भाजपा अध्यक्ष श्यामकरन टेकड़ीवाल ने सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए धन्यबाद एवं आभार ज्ञापित करते हुए जनपद में मक्का पर आधारित इकाई स्थापित किये जाने की मांग की। कार्यक्रम के दौरान मां. मंत्री जी ने सुशील कुमार, राकेश वर्मा, दिनेश कुमार को मृदा स्वास्थ्य कार्ड तथा राधेश्याम, उमेश एवं धनीराम को तील के बीज का मिनीकिट का वितरण किया। कार्यक्रम के दौरान मां. मंत्री जी को प्रतीक चिन्ह भेंट किया गया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक संतोष सिंह ने किया। कार्यक्रम के दौरान प्रगतिशील किसानों ने विभिन्न मांगों से सम्बन्धित प्रार्थना पत्र भी मा. मंत्री जी को दिया।

इस अवसर पर उप निदेशक कृषि अनिल कुमार सागर व अन्य सम्बन्धित अधिकारी, कृषि वैज्ञानिक, गणमान्य एवं प्रबुद्धजन, प्रगतिशील किसान हनुमान प्रसाद शर्मा, राम फेरन पाण्डेय, बब्बन सिंह, जयंकर सिंह, रामकेवल गुप्ता, गुलाम मोहम्मद, सुखिया व अन्य सम्बन्धित मौजूद रहे।

 रिपोर्ट- राकेश मौर्य

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY