जिलाधिकारी ने परखी मडो़री आंगनबाड़ी केंद्र की व्यवस्था

0
105

जालौन(ब्यूरो)- जिलाधिकारी श्री नरेन्द्र शंकर पाण्डेय ने आज पोषण मिशन योजना के अन्तर्गत गोद लिए ग्राम मड़ोरा के माडल विद्यालय में स्थित आंगनवाड़ी केन्द्र का निरीक्षक किया| जिसमे 61 पंजीकृत बच्चो से सापेक्ष 47 बच्चे उपस्थित पाये गये। आंगनवाड़ी केन्द्र व्यवस्थित तथा ठीक पाया गया। बच्चो से जानकारी करने पर बताया गया कि उन्हें पौष्टिक आहार के रूप में बिस्कुट तथा मैन्यू के अनुसार भोजन मिलता है। जन चौपाल के माध्यम से ग्राम वासियों द्वारा पेयजल, पेंशन पंचायत भवन पर कब्जा, चकरोड रास्ता पर कब्जा एवं स्वास्थ्य संबंधी शिकायतों की जानकारी दिये जाने पर एक-एक शिकायत का निराकरण करते हुए बताया कि ग्राम की पेयजल समस्या दूर करने हेतु जल निगम द्वारा 94 लाख धनराशि की परियोजना तैयार की गई है। जिस पर 15 दिन के अन्दर कार्य प्रारम्भ हो जायेगा। जिसके तहत पानी की टंकी तथा पाइप लाइन डालने का कार्य किया जायेगा धनराशि जल निगम विभाग को दी जा चुकी है। इस योजना के पूर्ण होने पर ग्राम की पेयजल समस्या का समुचित समाधान हो जायेगा। इसके साथ ही पंचायत भवन में भूसा-उपला जो भरे थे उसे तत्काल निकलवाकर खाली कराकर कब्जा मुक्त किया गया। तालाब पर अतिक्रमण को हटवाया जायेगा। देवकी नन्दन के प्रार्थना पर रास्ते का कब्जा तत्काल हटवाया गया।

स्वास्थ्य से संबन्धित जानकारी देते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि गर्भवती महिलाओं को आयरन गोलियां तथा टीकाकरण एएनएम द्वारा कराया जा रहा है। यह अब प्रत्येक सोमवार व शनिवार को ग्राम में आयेगी और गर्भवती महिलाओं एवं किशोरियों को आयरन की गोलिया देगी तथा जांच कर आवश्यक दवायें उपलब्ध करायेगी। इसके साथ ही प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. इदरीस बुधवार और गुरूवार को ग्राम में आयेंगे। यदि यह लोग न आये तो ग्रामवासी उन्हें फोन कर बताये। जननी सुरक्षा योजना की धनराशि 03 महिलाओं के खाते में भेजी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि शौचालय प्रत्येक घर में बनवाये और खुले में शौंच करने की प्रवृत्ति को बदलें इससे तमाम तरह की बीमारियां पैदा होती है। शौचालय निर्माण हेतु गरीब लोगो को एक शौचालय हेतु तीन किस्तो में 12000 रू0 की धनराशि सरकार द्वारा दी जा रही है। शर्त यह है कि वह पहले इसका निर्माण कराना प्रारम्भ करें। बहू-बेटियों की इज्जत करे और घर में शौचालय बनाये और उसका उपयोग करें। मातृ एवं शिशु कल्याण उपकेन्द्र का भी निरीक्षण किया। ग्राम मे सफाई न होने की शिकायत पर जिला पंचायत राज अधिकारी को सफाई कराने के निर्देश दिये।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी श्री एस0पी0 सिंह मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. अल्पना बरतारिया, परियोजना निदेशक जिला विकास अधिकारी, तहसीलदार उरई सहित अन्य जिला स्तरीय विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- अनुराग श्रीवास्तव/बबलू सिंह सेंगर/कौशल किशोर श्रीवास्तव/कपिल सोनी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here