मोहल्लेवासियों ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर दर्ज कराई शिकायत अधिकारियों की उपेक्षा का शिकार

0
52

सीतापुर (ब्यूरो) – पुराना सीतापुर के मुंशीगंज के निकट बसा मोहल्ला पूर्णागिरी के निवासियों ने जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर मोहल्ले में जलभराव व कीचड़ की समस्या से निजात दिलाने की मांग की है। साथ उन्होंने जलभराव से संक्रमण फैलने की आशंका भी व्यक्त की है। दिये गये  प्रार्थना पत्र में मोहल्लेवासियों ने कहा है कि मोहल्ले में इन बारिश के दिनों में घर से मुख्य मार्ग से पहुंचने का कोई रास्ता नहीं बचा है, जिसका मुख्य कारण जलभराव है। जिससे हम सभी मोहल्लावासी परेशान हो चुके है। चारो तरफ कीचड़ व गन्दा पानी भरा होने से जहां संक्रमण का भय बना हुआ है, वहीं बच्चे व बुर्जुग आए दिन इसमें गिरकर चोटिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम सभी के लिए मुसीबत के समय में कोई एम्बुलेस व चार पहिया वाहन भी मोहल्ले में आ नहीं सकता हैं। जबकि इस बारे में हम सभी के द्वारा कई बार प्रशसनिक अधिकारी व क्षेत्रीय विधायक व समाधान दिवस में कई बार प्रार्थना पत्र दिया जा चुका हैं|

लेकिन आश्वासन के अलावा कोई आज तक कोई कार्यवाही नहीं हो सकी हैं। मोहल्लेवासियों ने आरोप लगाते हुए कहा कि नगर पालिका परिषद, सीतापुर द्वारा समाधान दिवस के प्रार्थना पत्र के  जबाब आख्या में बताया गया है कि उक्त हम सभी का मोहल्ला नगर पालिका क्षेत्र सीतापुर के अन्तर्गत नहीं आता है, जबकि प्रमाण पत्र व हम सभी के हाउस व जल कर टैक्स की रसीद यह प्रमाणित होता है कि हमारा मोहल्ला नगर पालिका परिषद, सीतापुर के क्षेत्र के अन्तर्गत शामिल है। लेकिनg विकास कार्य करवाने के नाम पर नगर पालिका परिषद द्वारा सीमा क्षेत्र के बाहर होने का भ्रम फैलाकर कार्य नहीं करवाया जा रहा है। मोहल्लावासियों की समस्याओ की ओर ध्यान आकर्षित कराते 200 मीटर मार्ग का निर्माण करवाने की मांग की है। इस मौके पर गजेन्द्र मिश्रा, रिंकू त्रिपाठी, रामकिंकर, ज्ञानेन्द्र कुमार, विरेन्द्र, रवि, जीत सिंह, रजनीश, कमलेश, जगमोहन, आकाश, जमुना प्रसाद, विमल, सूरज आदि मोहल्लावासी मौजूद रहे।

रिपोर्ट – गजेंद्र मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here