धान क्रय का डीएम ने किया औचक निरीक्षण

0
111


बलिया (ब्यूरो)- जिलाधिकारी भवानी सिंह खंगारौत ने गुरुवार को चितबड़ागांव में मार्केटिंग विभाग द्वारा संचालित धान क्रय केंद्र का सघन निरीक्षण किया। धान क्रय केंद्र पर की गई सारी व्यवस्थाएं ठीक पाई गई ।उन्होंने निर्देश दिए की धान क्रय केंद्र संबंधित एक बैनर रोड पर भी लगाया जाए ।जिन किसानों का धान तौला जा रहा था,उन किसानों से भी उन्होंने वार्ता की। किसानों ने बताया कि उनका पूरी सहूलियत के साथ धान खरीदा जा रहा है और पहले से टोकन प्राप्त कर लिया गया था ,उसी क्रम में धान लेकर के आए हैं । उन्होंने किसानों की धान की खरीद की भुगतान के बारे में जानकारी हासिल की। बताया गया कि 72 किसानों का धान कितना 263 मीट्रिक टन धान खरीदा गया है जिसका पूरा भुगतान निर्धारित मूल्य के हिसाब से कर दिया गया । रजिस्टर पर 377 किसानों का नाम दर्ज पाया गया ।

जिलाधिकारी के निरीक्षण के दौरान धान की नरही निवासी किसान चन्द्रहास राय के धान की खरीद हो रही थी । उनसे टोकन पर्ची के बारे में भी जानकारी हासिल की गई । उसरौली निवासी राजेंद्र प्रसाद सिंह का लगभग 200 बोरा तथा कुलवंती सिंह व बब्बन निवासी चितबड़ागांव का धान खरीद के लिए केंद्र पर मौजूद था ।विपणन सहायक रोहित कुमार जो धान की खरीद रहे थे ,वह बीमार नजर आए, इसके लिए जिलाधिकारी ने कहा इनको छुट्टी दी जाए तथा उनके स्थान पर दूसरे कर्मचारी को लगाया जाए ।किसानों से उन्होंने उनकी जमीन के बारे में भी जानकारी हासिल की। बताया गया की 19 नवंबर से धान की खरीद की जा रही है।विपणन क्षेत्रीय विपणन अधिकारी अशोक यादव ने बताया की धान का मूल्य का समर्थन मूल्य घ्1750 प्रति कुंटल है तथा ग्रेड ए धान का समर्थन मूल्य 1770 रुपए कुंतल है।

उन्होंने बताया समर्थन मूल्य के अतिरिक्त उतराई,छनाई एवं सफाई आदि के खर्च के मद में किसानों को रुपया 20 प्रति कुंटल का आनलाइन भुगतान खरीद मूल्य के साथ ही किया जा रहा है ।बताया कि मंगलवार व शुक्रवार को लघु एवं सीमांत किसानों की खरीद की जा रही है ।धान की खरीद केवल पंजीकृत कृषकों से ही की जा रही है। केंद्र का खुलने का समय प्रात 9.00 बजे से अपराहन 5.00 बजे तक है। बताया गया कि जिन किसानों का धान खरीदा जाता है उन्हें पहले से ही उनके मोबाइल नंबर पर फोन करके धान लाने के लिए सूचित किया जाता है, इससे किसानों को कोई असुविधा नहीं होती है और बार बार दौड़ना भी नहीं पड़ता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here