जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की

0
79

अमेठी ब्यूरो : जिला अधिकारी ने कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यो की समीक्षा बैठक की । समीक्षा के दौरान समस्त अधिकारियों को निर्देषित करते हुए कहा कि उ. प्र. सरकार द्वारा संचालित जनहित योजनाओं का लाभ सीधे आम जन तक पहुंचे इसके लिए विकास कार्यो में लापरवाही बर्दास्त नहीं की जायेगी।

बैठक के उपरान्त जिलाधिकारी व विधायक के द्वारा मृत्यु एव विकलांगता सहायता योजना के अंतर्गत पंजीकृत मृतक श्रमिको को 2-2 लाख रूपये की सहायता धनराशि प्रदान किया गया।

जिलाधिकारी ने समीक्षा बैठक के दौरान समस्त अधिकारियों को लक्ष्य के सापेक्ष विकास कार्य पूर्ण करने का निर्देष दिया। उन्होंने जनपद में निर्माणधीन कार्यालयों के धीमी कार्य प्रगति पर नाराजगी जाहिर करते हुए कार्यदायी संस्था को निर्माण कार्य षीघ्र पूरा करने का निर्देष दिया।

जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देषित करते हुए कहा कि उप्र सरकार द्वारा जो भी बजट मिले उसे सत-प्रतिषत खर्च किए जाए, जिससे अस्पताल में मरीजों को हर सुविधाये मिल सके।

समीक्षा बैठक के दौरान विधानसभा तिलोई के मा0 विधायक मयंकेष्वर शरण सिंह के द्वारा प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र के प्रचार -प्रसार पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को कैम्प लगाकर प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र का व्यापक प्रचार-प्रसार करने का निर्देष दिया। उन्होंने कहा कि एक अभियान चलाकर लोगों को यह बताया जाए कि प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्रों पर आम जनता को सस्ते मूल्य पर दवाइयां उपलब्ध कराई जाती हैं।

जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण खण्ड प्रथम व द्वितीय को निर्देषित करते हुए कहा कि सरकार की मंषा है ,कि सभी सड़के गढ्ढा मुक्त हो, इसके लिए वे हर हाल में 15 जून तक जनपद की समस्त सड़कों को गढ्ढा मुक्त करें।

उन्होंने जिन सडकों पर गढ्ढा मुंक्त का कार्य पूर्ण कर लिया गया हो उसकी फोटों ग्राफी कर ने का निर्देष दिया। उन्होंने अधिषाषी अभियन्ता विद्युत को निर्देषित करते हुए कहा कि ग्रामीण व षहरी क्षेत्रों में रोस्टर के अनुसार विद्युत आपूर्ति की जाए एवं जो ट्रांसफार्मर खराब हो चुके हैं, उन्हें अविलम्ब बदलने का निर्देष दिया।

जिलाधिकारी ने आधार कार्ड फीडिंग कार्य की धीमी प्रगति पर जिला पूर्ति अधिकारी को कड़ी चेतावनी देते हुए यह निर्देषित किया कि माह के अन्त तक हर हाल में फीडिंग का कार्य पूर्ण कर लिए जाए। उन्होंने वाह्य शौच मुक्त के प्रगति की जानकारी लेते हुए जिला पंचायत राज अधिकारी से बिन्दुवार जानकारी ली एवं उन्हे निर्देषित करते हुए कहा कि जल्द से जल्द जनपद के शत-प्रतिशत वाह्य शौच मुक्त बनाना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी ने अधिषाषी अभियन्ता जलनिगम को यह निर्देषित करते हुए कहा कि जनपद के जितन भी खराब हैंडपम्प हो उन्हें जल्द से जल्द ठीक कराया जाए एवं जो हैण्डपम्प रिबोर की हालत में हों उनकी दोबारा बोरिंग कराई जाए।

उन्होंने कहा कि नहरो की सिल्ट सफाई कराकर तालाबों में पानी भरवाने की व्यवस्था जल्द से जल्द करवाई जाए। जिलाधिकारी ने प्रभागीय वनाधिकारी को यह निर्देषित करते हुए कहा कि जो भी जमीन चारागाह व खाली पड़ी हो उसमेंवृक्षारोपण कराया जाए।

बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी सुश्री अपूर्वा दूबे, अपर जिलाधिकारी ईश्वर चन्द, विधायक तिलोई व अमेठी, मुख्य चिकित्साधिकारी, समस्त उपजिलाधिकारी सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट : हरि प्रसाद यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY