“डीएम साहब “शिक्षक कर रहे हैं बच्चों के भविष्य से खिलवाड़

0
87
प्रतीकात्मक

महराजगंज/रायबरेली (ब्यूरो)- क्षेत्र के मऊगर्वी में दो वर्ष पूर्व ही खुले राजकीय हाईस्कूल की स्थिति काफी दयनीय हो चली है जहां एक ओर भवन की दीवारे व प्लास्टर खराब हो चले हैं वहीं विद्यालय की कर्ताधर्ता प्रधानाचार्या महीने दो बार आकर मात्र हस्ताक्षर करने का ही काम करती हैं। जिसके चलते विद्यालय में अध्ययनरत छात्राओं का भविष्य गर्त में जा रहा है।

विद्यालय मात्र एक ही शिक्षक के सहारे अपनी कच्छप गति से चल रहा है। जिससे क्षेत्र के अभिभावको में आक्रोश व्याप्त है। मामले में अभिभावकों ने प्रधानाचार्य के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। जानकारी के अनुसार विकास खण्ड के मऊगर्वी में स्थित राजकीय हाईस्कूल में 120 छात्राएं पंजीकृत हैं। इन छात्राओं के लिए एक प्रधानाचार्य व दो शिक्षको की तैनाती की गयी है। जिसमें से प्रधानाचार्य सुमन दीक्षित माह में दो बार आकर मात्र उपस्थित रजिस्टर व अन्य कागजातों पर हस्ताक्षर करके चली जाती हैं। वहीं दूसरी शिक्षिका नेहा दुबे जो गृह विज्ञान की है उनका भी विद्यालय आने जाने का कोई समय निर्घारित नही है। पूरे विद्यालय की जिम्मेदारी हिन्दी अध्यापक अरविन्द सिंह की ही है। जिसके चलते विद्यालय की छात्राओ का भविष्य खराब हो रहा है।

क्षेत्र के अभिभावकों में मामले को लेकर काफी रोष व्याप्त है। अभिभावको की माने तो विद्यालय की प्रधानाचार्या कभी विद्यालय नही आती हैं। वहीं जब विद्यालय में उपस्थित िक्षक अरविन्द सिंह सहित छात्राओं से जानकारी की गयी तो उन्होने बताया कि प्रधानाचार्या सुमन दीक्षित महीने में दो तीन बार ही विद्यालय आती है।

शिक्षक अरविन्द सिंह की माने तो प्रधानाचार्या विद्यालय नही आती है और जरूरी दस्तावेजों पर हस्ताक्षर के लिए उनके लखनऊ आवास पर जाना पड़़ता है। अरविन्द सिंह ने बताया कि वह हिन्दी केशिक्षक है लेकिन उनसे सभी विषय पढ़ाने के साथ साथ अन्य विद्यालय के कार्य भी लिए जाते हैं। यही नही उन्होने बताया कि सहायक अध्यापक नेहा दुबे का भी विद्यालय आने का जाने का समय निर्धारित नही है दोनो ही लोगो द्वारा उसपर झूठ बोलने का दबाव बनाया जाता है उन्होने बताया कि जब भी कोई अधिकारी जांच के लिए आता है उसे प्रधानाचार्य के सख्त निर्दे है वह उन्हे डीआईओएस के आफिस में जाना बताया जाय। मामले में शिक्षक ने भी उच्चाधिकारियों से शिक्षक करने की बात कही है। वही क्षेत्र के अभिभावकों ने प्रधानाचार्या के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।

रिपोर्ट⁠⁠⁠⁠- अनुज मौर्य 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here