सरकार द्वारा निर्धारित मूल्य से अधिक का न बेंचे स्टाम्प पेपर

जालौन ब्यूरो- कोई भी स्टॉम्प वेंडर शासन द्वारा निर्धारित मूल्य से अधिक दर पर स्टाॅम्प न बेचे। यदि कोई शिकायत मिलती है तो संबंधित वेंडर का लाइसेंस निरस्त किया जाएगा। यह बात तहसीलदार ने स्टाॅम्प वेंडरों के बस्ते पर जाकर कही।

योगी सरकार की कर्जमाफी योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को 10 रुपये के स्टाॅम्प भूमि प्रमाण पत्र देना पड़ रहा है। इसके लिए किसानों द्वारा 10 रुपये के स्टाॅम्प की खरीद की जा रही है। किसानों द्वारा भारी में मात्रा में स्टाॅम्प की खरीद किए जाने के चलते स्टाॅम्प विक्रेताओं की चांदी हो रही है। इसी का लाभ उठाकर स्टाॅम्प विक्रेता शासन द्वारा निर्धारित दर से अधिक 15 रुपये से लेकर 20 रुपये तक में स्टाॅम्प की बिक्री कर रहे हैं। इसकी जानकारी किसानों द्वारा तहसीलदार को दी गई।

किसानों की शिकायतों पर तहसीलदार भूपाल सिंह ने स्टाॅम्प बिक्रेताओं के बस्तों पर जाकर चेकिंग की। इस दौरान उन्होंने स्टाॅम्प बिक्रेताओं को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि कोई भी विक्रेता शासन द्वारा निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर स्टाॅम्प की बिक्री नहीं करेगा। शासन द्वारा स्टाॅम्प बिक्री का जो मूल्य निर्धारित किया गया है उसी दर पर स्टाॅम्प की बिक्री की जाए। यदि कोई शिकायत मिलती है तो संबंधित स्टाॅम्प विक्रेता का लाइसेंस निरस्त कर उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इसके अलावा उन्होंने उपकोषागार में तैनात कर्मचारियों को भी हिदायत दी स्टाॅम्प विक्रेताओं को सख्त हिदायत दी जाए कि वह निर्धारित दर पर ही स्टाॅम्पों की बिक्री करें। अन्यथा की स्थिति में उन्हें स्टाॅम्प न दिया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here