अम्बेडकर नगर मे अबैध खनन रोकना प्रशासन के लिये पत्थर से पानी निचोडने के बराबर

0
164

avaidh khanan

अंबेडकरनगर (ब्यूरो)- बसखारी थाना क्षेत्र अंतर्गत नगर पंचायत अशरफपुर किछौछा में वर्षों से चल रहे अवैध खनन को रोक पाना स्थानिक प्रशासन के और जिला प्रशासन के लिए भी मील का पत्थर साबित हो रहा है| लाख जतन कर ले शासन व प्रशासन किन्तु नगर पंचायत अशरफपुर किछौछा का अवैध खनन रोक पाना स्थानीय प्रशासन व जिला प्रशासन के लिए लोहे का चना साबित हो रहा है|

बताते चलें कि, नगर पंचायत अशरफपुर किछौछा और आसपास क्षेत्रों में हो रहे अवैध खनन को लेकर क्षेत्र में चर्चा है कि हो रहे अवैध खनन आज की नई बात नहीं है, शासन द्वारा तमाम नियम कानून लगाये गये। हाई कोर्ट व सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियम कानून बनाये गये इन पर कोई भी प्रभाव नहीं पड़ रहा है वही नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है, अवैध खनन करने वाले खनन माफियाओं का हौसला इस कदर बुलंद है क्योंकि स्थानीय प्रशासन के रहमो करम पर हो रहे अवैध खनन की वजह से इसे रोक पाना चर्चा का विषय बना हुआ है|

आपको बताते चलें कि, आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर आचार संहिता लागू हो चुका है, आचार संहिता लागू होने के बावजूद भी खनन माफियाओं का हौसला इस कदर बुलंद है कि उन्हें जरा सा भी खौफ नहीं है| खुलेआम आचार संहिता की धज्जियां उड़ा रहे। दिन हो या रात कभी भी अवैध खनन होते देखा जा सकता है, आखिरकार क्या कारण है कि स्थानीय प्रशासन या एसडीएम टांडा या फिर जिला प्रशासन को इसकी जानकारी नहीं है या फिर जानकारी रखना ही नहीं चाहती।

यह एक विचारणीय प्रश्न बनकर रह गया है जब आचार संहिता का इस तरह से प्रशासन के नग्गी आंखों के सामने किया जाएगा तो लोगों की शासन और प्रशासन से विश्वास उठना लाजमी है नगर पंचायत व आसपास क्षेत्रों में वर्षों से हो रही अवैध खनन मामले को कई बार प्रकाशित किया जा चुका है किंतु फिर भी उनकी सेहत पर कोई असर नहीं दिखाई पड़ता आखिरकार क्या कारण है कि अवैध खनन माफियाओं का हौसला इतना बुलंद है कि स्थानीय प्रशासन या जिला प्रशासन इन पर नकेल कसने में फेल नजर आ रही है ऐसे में तो प्रशासन के ऊपर से लोगों का विश्वास उठना लाजिमी है वर्तमान समय में भी अवैध खनन होते देखा जा सकता है।

रिपोर्ट-सर्वेश गुप्ता
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here