लोगों की जिन्दगी से खेल रहे झोलाछाप डाक्टर

0
126

उन्नाव (ब्यूरो)- झोलाझाप डाक्टर की लापरवाही की भेट चढ़ कर लोग परेशान है | जान पर बन जाने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग का रवैया ऐसे झोलाझाप दुकानों के प्रति नर्म नज़र आता है | ऐसे ही एक पेट दर्द से पीड़ित मरीज के ग्लूकोज़ बोतल चढाने के बाद उसके शरीर में छाले पड़ गए, तब उसे सी.एच.सी. में भर्ती कर इलाज कराया गया।

यह मामला अकेला नहीं है गाँव-गाँव दुकान सजाए चिकित्सक बिना किसी पंजीकरण के इलाज कर रहे है | निकटता को महत्व देकर पहुचने वाले लोगो को इसका खामियाज़ा भी भुगतना पड़ता है | ऐसा ही एक मामला कोतवाली क्षेत्र के ग्राम कुशाल खेड़ा मजरा सराय अख्तियारपुर निवासी धीरज (19) पुत्र शिवलाल के पेट में दर्द उठा रात्रि निकट जान कर परिजन उसे गाव में छाए बिछाए झोलाझाप के यहाँ पहुच गए| उसने आनन फानन ग्लूकोज़ की बोतल चढ़ा दी, उस बोतल में ही इंजेक्शन डाले| रात में एक-एक कर दो बोतले चढ़ते ही दवा रिएक्शन करना शुरू हो गई और मरीज धीरज के शरीर पर छाले पड़ना शुरू हो गए, तब चिकित्सक के हाथ पैर फूले और उसने जवाब दे दिया| तब परिजनों ने स्थानीय सी एच सी में भर्ती कराया गया ज उसका इलाज किया गया ।

रिपोर्ट- रामजी गुप्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here