विंढमगंज स्वास्थ्य केन्द्र पर तैनात डॉक्टर मेडिकल फिटनेस बनाने हेतु छात्रों से 3 सौ से 5 सौ रूपये ले रहा घूस

0
45

दुद्धी/सोनभद्र(ब्यूरो)- प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र विंढमगंज में तैनात चिकित्सक द्वारा छात्रों से मेडिकल फिटनेस बनाने के नाम पर अवैध धन उगाही तल्लीन है पैसा न देने पर अभद्रता पूर्ण भाषा का प्रयोग किये जाने का मामला प्रकाश में आया है ।

बतातें चलें कि बुटबेढ़वा गांव स्थित विंढमगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात चिकित्सक आर डी राधेश्याम प्रजापति द्वारा क्षेत्र के छात्रों से मेडिकल फिटनेस बनाने हेतु तीन सौ रुपये से लेकर पांच सौ रुपये तक अवैध रूप से जबरिया वसूल रहा है तथा जो छात्र रुपया नहीं देता है उसका फिटनेस बनाता भी नही तथा उसके साथ अभद्रता करता है । इसी क्रम में क्षेत्र का एक छात्र शुक्रवार को उक्त स्वास्थ्य केंद्र पर मेडिकल फिटनेस बनवाने गया तो उससे चिकित्सक ने पांच सौ रुपये की मांग किया परन्तु छात्र के आरजू मिन्नत करने पर तीन सौ रुपये लेकर फिटनेस बना दिया गया ।

पीड़ित छात्रों का कहना है कि फिटनेस बनाने के लिए पैसा न देने पर चिकित्सक कहता है कि दुद्धी चले जाओ यहां नहीं बनेगा। इस तरह से सरकारी चिकित्सक लोगों का आर्थिक व मानसिक शोषण करने में मशगुल है । मजे की बात यह है कि एक तरफ योगी सरकार का फरमान जारी है कि कहीं भी किसी भी सरकारी पद पर बैठा अधिकारी कर्मचारी घुस मांगता है तो उसकी खैर नहीं है ।

यह सरकार भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने का जनता से वायदा किया है जिसका पालन भी किया जायेगा ऐसा होता प्रतीत नहीं हो रहा है। क्या यही भ्रष्टाचार मुक्त शासन है कि गरीब मजबूर छात्रों से सरकारी चिकित्सक बीना रुपया लिया मेडिकल फिटनेस नहीं बनाता है । जिसका जीत जगता उदाहरण है क्षेत्र का एक युवक छात्र जो अपना फिटनेस बनाने के लिए चिकित्सक को तीन सौ रुपया देते देखा जा रहा है जो एक वीडियो व फोटो में साफ दिख रहा है , इससे बड़ा प्रमाण क्या कोई और हो सकता है । चिकित्सक के द्वारा किया जा रहे इस घृणित व भ्रष्ट कार्य की क्षेत्र में चर्चायें जोरो पर है ।
क्षेत्रीय जनों ने शासन व प्रशासन का ध्यान इस ओर आकृष्ट कराते हुये तत्काल भ्रष्ट चिकित्सक के खिलाफ जांच कर दण्डात्मक कार्रवाई किये जाने की मांग की है ।

रिपोर्ट – ज़मीर अंसारी/उपेन्द्र तिवारी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY