बलिया में डॉक्टर के साथ दुर्व्यवहार, डॉक्टरों ने किया हड़ताल

बलिया(ब्यूरो)- सीएचसी रसड़ा में शुक्रवार की सुबह लगभग 11 बजे ड्यूटी पर तैनात डाक्टर पीसी भारती के साथ कुछ लोगों द्वारा दु‌र्व्यवहार व हमला कर घायल करने के विरोध में डाक्टरों व अस्पताल के सभी कर्मचारियों ने अचानक ओपीडी में ताला जड़कर आकस्मिक सेवाएं भी ठप कर दीं। अस्पताल में घुस कर गुंडागर्दी किए जाने के विरोध में सभी डाक्टर व फर्मासिस्ट बाहर निकल आए और नारे बाजी करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे।

डाक्टर पीसी भारती ने कोतवाली में दिए गए तहरीर में दो व्यक्तियों के विरूद्ध आरोप लगाया है कि जबर्दस्ती फर्जी मेडिकल रिपोर्ट बनवाने का दबाव बना रहे थे और ऐसा नहीं किए जाने पर अभद्र व्यवहार करते हुए गाली-गलौज तथा जान से मारने की धमकी दी। उनके मोबाइल भी छीनने का प्रयास किया गया इस बीच उन्हें चोटें भी आयी है। इस दौरान डाक्टरों द्वारा अचानक सीएचसी में ताला बंदी व हड़ताल से चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई। अधीक्षक डा. वीरेंद्र कुमार के नेतृत्व में डाक्टरों का प्रतिनिधि मंडल कोतवाली पहुंचकर प्रभारी निरीक्षक अविनाश कुमार से मिला। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों की धर पकड़ के लिए कई जगह छापेमारी की, लेकिन आरोपी पकड़ में नहीं आए।

तीन घंटे बाद शुरू ओपीडी-

घटना के बाद चिकित्सक और कर्मचारी अस्पताल में ताला बंदी कर हड़ताल पर चले गए। इस दौरान सैकड़ों मरीज गर्मी इलाज के लिए परेशान रहे। कुछ अस्पताल परिसर में ही इधर-उधर भागते रहे तो कुछ वापस लौट गए। वहीं बहुतायत की संख्या में मरीज अस्पताल खुलने और हड़ताल समाप्त होने का इंतजार करते रहे। प्रभारी निरीक्षक अविनाश कुमार द्वारा आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तार किए जाने के आश्वासन पर लगभग तीन तीन घंटे के हड़ताल के बाद चिकित्सक ओपीडी में लौटे और मरीजों का इलाज शुरू किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here