TET प्रश्नपत्र लीक में संदेह गहराया, SDM ने भी भरी हामी

0
70

पटना(ब्यूरो)- बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के दौरान प्रश्नपत्र लीक की चर्चा रविवार दिन भर होती रही। मामले की लीपापोती की कोशिश के बीच स्थिति तब हास्‍यास्‍पद हो गई, ज‍ब जमुई के एसडीओ ने वायरल प्रश्नपत्र को सही बताया, जबकि बिहार बोर्ड (बीएसईबी) के अध्‍यक्ष और पुलिस के वरीय अधिकारियों ने इसे अफवाह करार दिया।

बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने परीक्षा की दूसरी पाली समाप्त होने के बाद दावा किया कि राज्य के किसी भी जिले से टीईटी परीक्षा के प्रश्न पत्र लीक होने की सूचना नहीं है। राज्य के सभी परीक्षा केंद्रों पर टीईटी की परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हुई है। उन्होंने कहा कि परीक्षा के दौरान प्रश्नपत्र वायरल होने की अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की अनुशंसा की जा रही है।

जमुई में वायरल हुए पेपर-

जमुई में सुबह से ही वायरल प्रश्नपत्र के उत्तर पांच-पांच हजार रुपये में परीक्षा केंद्रों के इर्द-गिर्द उपलब्ध थे। जांच करने के बाद एसडीओ सुरेश प्रसाद ने वायरल प्रश्नपत्र और उत्तर को मिलान के बाद सही बताया। जिलाधिकारी डॉ. कौशल किशोर भी इसकी सत्यता की जांच में जुटे हैं।

कई परीक्षार्थियों ने बताया कि लखीसराय रोड स्थित एक होटल के समीप पांच-पांच हजार रुपये में प्रश्नपत्र बिक रहे थे। परीक्षा शुरू होने से आधे घंटे पूर्व धंधेबाजों ने प्रश्नपत्र और उत्तर को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। जिलाधिकारी डॉ. कौशल किशोर ने बताया कि परीक्षा केंद्रों की जांच कराई गई। किसी भी छात्र को नकल करते नहीं पाया गया।

पटना में अधिकारियों ने कहा, अफवाह है-

पटना में अधिकारी प्रश्नपत्र लीक होने और सोशल मीडिया पर वायरल होने की खबरों को अफवाह बताते रहे। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने कहा कि पटना के एसएसपी को निर्देश दिया है कि प्रश्नपत्र वायरल होने की अफवाह फैलाने वालों को तत्काल चिन्हित कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

आनंद किशोर ने स्वीकार किया कि इस तरह के अफवाह फैलाने वालों के कुछ कोचिंग संस्थान शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इस बार की परीक्षा में हर स्तर पर सावधानी बरती गई है। पूरी व्यवस्था ‘फूलप्रूव’ थी। ऐसे में प्रश्नपत्र लीक होने की कोई संभावना नहीं थी।

दो दर्जन से अधिक मुन्ना भाई पकड़ाए-

राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल ने कहा कि टीईटी परीक्षा के प्रश्नपत्र लीक होने की शिकायत उन्हें किसी भी जिले से प्राप्त नहीं हुई है। पुलिस अब इस तरह के अफवाह फैलाने वालों को चिन्हित करेगी। दरभंगा, मधुबनी और भागलपुर में प्रश्नपत्र सोशल मीडिया पर वायरल होने की सूचना पर पुलिस ने तत्काल छापेमारी की, लेकिन पुलिस को कुछ हाथ नहीं लग सका।

राज्य में दो दर्जन से अधिक मुन्ना भाई पकड़े गए हैं। पूर्व बिहार, कोसी और सीमांचल में 12 फर्जी परीक्षार्थियों को पकड़ा गया। इनके अलावा नकल कर रहे दो परीक्षार्थी भी पकड़े गए हैं। मुंगेर में एक, सहरसा में छह, मधेपुरा में तीन, कटिहार में एक और बांका में एक फर्जी परीक्षार्थी पकड़ा गया। इसके अलावा सहरसा में नकल कर रहे दो परीक्षार्थी पकड़े गए हैं।

रिपोर्ट- आशुतोष कुमार सिंह 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY