राजनीतिक उदासीनता की मार झेल रहे ब्लॉक अमांवा के दर्जनों गाँव

0
181


महराजगंज रायबरेली ब्यूरो : पिछले विधानसभा चुनाव के वक्त विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन में सदर विधानसभा से टूटकर बछरावां विधानसभा में शामिल हुये अमांवा ब्लॉक के लगभग दर्जनों गाँव राजनैतिक उदासीनता के चलते विकास से काफी दूर होते नजर आ रहे हैं ।

बताते चलें कि सदर विधानसभा में रहे ब्लॉक अमांवा के पिंडारीकला, खैरहना, बघैल, अमावां, पहरेमऊ, अशरफाबाद, पहरावां ,जरैला, बावन बुजुर्ग बल्ला, नरई आदि ग्रामसभाओं के लगभग दर्जनों गाँव कभी विकासशील गाँव हुआ करते थे । लेकिन विधानसभा क्षेत्र बदलने के चलते पिछले पाँच वर्षों से नेताओं ने इस क्षेत्र से ऐसा मुँह मोड़ा कि आज इस क्षेत्र में विकास के नाम पर कोई सुध लेने वाला नजर नही आ रहा है ।

अब इस क्षेत्र की स्थिति धोबी के कुत्ते वाली कहावत चरितार्थ करती नजर आ रही है । कभी बिजली पानी सड़क जैसी मूलभूत सुविधाओं से यह क्षेत्र काफी सम्पन्न हुआ करता था । लेकिन विधानसभा क्षेत्र बदलते ही इस क्षेत्र को ऐसा ग्रहण लगा की कि मानो विकासरूपी पहिये ही रुक गये हों। आज स्थिति यह है कि बिजली को छोड़ कर सभी मूलभूत सुविधायें नदारत हैं । सड़कों के नाम पर सड़कों पर बने गहरे गहरे जानलेवा रूपी गड्डे व डामरविहीन हो चुकी सड़को से उड़ती धूल व पेयजल के नाम पर खराब पड़े हैण्डपम्प इस क्षेत्र की दुर्दशा को बयां कर रहे हैं । वहीं इस बार के चुनाव में पूर्ण बहुमत की भाजपा सरकार व इस क्षेत्र से नवनिर्वाचित भाजपा विधायक श्री राम नरेश रावत से इस क्षेत्र के लोगों को खासी उम्मीदें दिखायी दे रही हैं । अब यह देखना दिलचस्प होगा कि विधायक जी लोगों की उम्मीदों पर कितना खरा उतर पाते हैं ।

रिपोर्ट – विनय सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here