सम्पूर्ण मानवता के सुधारक रहे डॉ. अम्बेडकर : जिलाधिकारी

0
104

रायबरेली (ब्यूरो)-  आज पूरा देश डाॅ0 अम्बेडकर की 126 वीं जयन्ती मना रहा है। डाॅ0 अम्बेडकर दलितों, शोषितों के ही नही बल्कि सम्पूर्ण समाज के महान सुधारक युगदृष्टिा थे। उन्होंने अपने जीवन में असमानता की अनेक समस्याओं को झेला। 200 वर्ष पूर्व समाज में विषमता की स्थिति बहुत अधिक खराब थी, जिसकी कल्पना असम्भव है।

डाॅ0 अम्बेडकर ने विश्व का सर्वोत्कृष्ट आदर्श संविधान दिया जिसने अनेक देशों की अच्छी व्यवस्थाएं समाहित है। जिससे आज भी हम अपने आस पास स्वतंत्रता के आवरण का अहसास करते है। सामान्य जन को उनसे संघर्ष की प्रेरणा लेनी चाहिए हमें भी अपने आस पास को सुन्दर बनाने के लिए प्रयास करना चाहिए।

यह विचार जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बचत भवन के सभागार में अम्बेडकर की जयन्ती में रखे। उन्होंने कहा कि डाॅ0 अम्बेडकर ने अपने जीवन पर्यन्त संर्घष किया। समानता के लिए सामाजिक क्रांति अह्रवाहन किया जिसका दलितों शोषितों एवं महिलाओं को लाभ मिला। आधुनिक भारतीय संविधान उनकी बहुत बडी देन है, जिसके लिए हम सब ऋणी है। अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य ने कहा कि यह दौर डिजिटल क्रांति का है।

डाॅ0 अम्बेडकर ने रिजर्व बैंक और आर्थिक आयोग उनकी पे्ररणा से बना था। अपर जिलाधिकारी (प्रशा0) तिलक धारी ने बताया कि डाॅ0 अम्बेडकर ने सामाजिक समरसता के लिए बहुमूल्य योगदान दिया। हमे उनके आदर्शों पर चलना चाहिए। उनके जीवन का गुणगान सच को दीपक दिखाना है। महेश त्रिपाठी ने डाॅ0 अम्बेडकर को महान विद्धान समाज सुधारक बताते हुए उनके जीवन व शिक्षा पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम केे प्रारम्भ में जिलाधिकारी व अन्य सभी प्रमुख अधिकारियों ने डाॅ0 अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण किया। कार्यक्रम में सभी विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों ने भाग लिया।

रिपोर्ट- राजेश यादव 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here