विशेष विमान से दिल्ली लाया जा रहा हैं डाक्टर कलाम का पार्थिव शरीर, प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी स्वयं पहुंचेंगे दिल्ली हवाई अड्डे पर

0
545

apj abdul kalam13
मिसाइल मैन के नाम से पूरी दुनिया में मशहूर पूर्व राष्ट्रपति डाक्टर ए.पी.जे. अब्दुल कलाम का कल शिलोंग के आईआईएम में एक भाषण के दौरान दिल का दौरा पड़ने के कारण मृत्यु हो गयी थी I आज उनका पार्थिव शरीर गुवाहाटी हवाई अड्डे से एक विशेष विमान के जरिये दिल्ली हवाई अड्डे पर लाया जा रहा हैं I देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी स्वयं दिल्ली के हवाई अड्डे पर देश के सर्व प्रिय नेता के सम्मान में हवाई अड्डे पर पहुँच रहे हैं I
बता दें कि वर्ष 1931 अक्टूबर में तमिलनाडु के एक छोटे से कस्बे रामनाथ पुरम में जन्म हुआ था देश के इस सबसे बड़े वैज्ञानिक का इन्होने मद्रास मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से एयरोनॉटिक्स की पढ़ाई की थी और बाद में भारत के स्पेस कार्यक्रम से जुड़ गए I डाक्टर कलाम को भारत में स्पेस रिसर्च और मिसाइल प्रणाली का अगर जनक कहे तो कोई बड़ी बात नहीं होगी, आज दुनिया के सामने अगर भारत गर्व से अपना सर उठाकर यह कह सकता हैं कि, “हम किसी से कम नहीं” तो वह किसी और की बदौलत नहीं बल्कि केवल और केवल इन्ही की बदौलत हैं I
डाक्टर कलाम ने 18 जुलाई 2002 को देश के 11वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी और इस बात का प्रस्ताव जिस समय देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई ने सभी के सामने रखा था उस समय देश के किसी भी नेता के पास विरोध करने का कोई कारण ही नहीं था और यही कारण था कि पहली बार देश के इतिहास में 90 प्रतिशत वोटों के साथ डाक्टर ए.पी.जे. अब्दुल कलाम को देश के ११वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ दिलायी गयी I
डाक्टर कलाम को बच्चे सर्वाधिक प्रिय थे, उन्हें जब भी वक्त मिल जाता था वह तुरंत ही बच्चों से मिलने में उनसे बात करने में कभी हिचकते नहीं थे और उनसे घंटों-घंटों बाते किया करते थे I उनका हमेशा से यह मानना था कि बच्चे ही इस देश का भविष्य और कल जब वह अपने जीवन की अंतिम साँसे भी ले रहे थे तब भी वह अपने उन्ही सबसे अधिक नजदीकियों के साथ ही थे I कल वह शिलोंग के आईआईएम में बच्चों के एक कार्यक्रम के दौरान एक अध्यापक के तौर पर उन्हें शिक्षित कर रहे थे तभी उन्हें दिल का दौरा पड़ा और जिसके कारण उनकी मृत्यु हो गयी I
डाक्टर कलाम की जगह कभी भी कोई और नहीं ले सकता I कल डाक्टर कलाम की आँखों के बंद होने के साथ ही इस देश के स्पेस और मिसाइल, विज्ञान और प्रद्दौगिकी का एक अध्याय भी बंद हो गया I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

15 − two =