टेण्डर प्रक्रिया के बाद भी नही शुरू हो सकी ड्रेन की सफाई

महराजगंज/रायबरेली (ब्यूरो)- क्षेत्र के सिकन्दरपुर स्थित मूंगताल ड्रेन की सफाई न होने से हजारों बीघे खेती हर वर्ष डूब जाती है जिससे किसानों का लाखों का नुकसान होता है। किसानों के बार बार मांग के बाद भी उच्चाधिकारियों के कानों में जूं तक नही रेंगती है। वहीं इस बार शासन की ओर से ड्रेन की सफाई के लिए 20 लाख रूपये स्वीकृत होने के बाद भी अधिकारी टेण्डर में काली कमाई का जरिया खोज रहे है| जिससे ड्रेन की सफाई इस बार भी नही हो सकी है।

बताते चलें कि सिकन्दरपुर ग्राम सभा में मूंगताल ड्रेन की वर्षों से सफाई नही हुयी है सफाई न होने के कारण हर वर्ष आस-पास की लगभग 1500 बीघे खेती डूब जाती है जिससे किसानों को हर बार अपनी फसल से हाथ धोना पड़ता है। जानकारी के अनुसार शासन से इस बार ड्रेन की सफाई के लिए 20 लाख रूपये की स्वीकृति हुयी है। और सफाई को लेकर टेण्डर की प्रक्रिया भी चल रही है परन्तु उच्चाधिकारी 20 दिनों पूर्व टेण्डर पड़ने के बाद भी अभी तक टेण्डर स्वीकृति नही करायी है।

जानकारों की माने तो मामले में अधिकारी भी मोटी कमाई के चक्कर में टेण्डर को स्वीकृति नही प्रदान कर रहे हैं। क्षेत्र के लोगो का कहना है कि अधिकारियों की हीलाहवाली के चलते इस बार भी उनकी फसल बर्बाद हो जायेगी। क्षेत्र के लोगो ने प्रासन से जल्द से जल्द ड्रेन की सफाई कराने की मांग की है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY