पेयजल आपूर्ति बाधित हुई तो नपेंगे अधिकारी: जिलाधिकारी

0
55

रायबरेली ब्यूरो जिलाधिकारी ने जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों में आगामी गर्मी की भीषण, बढ़ते तापमान एवं गिरते भू-जल स्तर के कारण कई स्थानों पर पेयजल की गम्भीर समस्या को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की उपलब्धता व आपूर्ति सुनिश्चित किये जाने की अपरिहार्यता को दृष्टिगत रखते हुए वर्तमान में अधिष्ठापित इण्डिया मार्क-11 हैण्डपम्प एवं पाइप पेयजल योजनाओें को क्रियाशील बनाये रखने की नितान्त आवश्यक बताया ताकि ग्रामीण जनता को स्वच्छ एवं शुद्ध पेयजल सतत् रूप से उपलब्ध होता रहें।

ग्रामीण क्षेत्रों में खराब पड़े समस्त हैण्डपम्पों की सूची विकास खण्ड से प्राप्त कर उनका स्थलीय तकनीकी परीक्षण अधि. अभि. उ. प्र. जल निगम द्वारा अभियान चलाया जाये तथा उनके द्वारा तकनीकी परीक्षण के आधार पर दो सूचियां तैयार की जायेगी। पहली सूची में उन हैण्डपम्पों को शामिल किया जायेगा, जिनकों मरम्मत करके पुनः उपयोग में लाया जा सकता है। मरम्मत का कार्य शासनादेश में निहित व्यवस्था के अनुसार सम्बन्धित ग्राम पंचायत/पंचायत राज विभाग द्वारा सुनिश्चित किया जायेगा। दूसरी सूची में उन हैण्डपम्पों को शामिल किया जायेगा, जिन्हें तकनीकी परीक्षण में रिबोर कराया जाना अपरिहार्य पाया जाता है रिबोर हैण्डपम्पों की सूची में मरम्मत हैण्डपम्पों को किसी भी दशा में न किया जाये, जिससे अनुमोदित सूची में यथा सम्भव परिवर्तन की आवश्यकता न पड़े अन्यथा इसके लिए अधि0अभि0 उ0प्र0 जल निगम एवं सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारी पूर्ण रूप से उत्तरदायी होगें।

अस्थायी रूप से खराब हैण्डपम्पों की मरम्मत का कार्य अभियान चलाकर क्रियाशील कराने हेतु प्रभावी कार्यवाही खण्ड विकास अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा करायी जायेगी, जिससे पेयजल की कोई समस्या उत्पन्न न हो पाये। ग्रामीण क्षेत्रों में पाइप पेयजल योजनाओं से जलापूर्ति से सम्बन्धित सभी टंकियों को तत्काल सफाई करवा कर उनसे स्वच्छ जल की आपूर्ति करायी जाये। पाइप लाइन के जरिये हो रही जलापूर्ति के दौरान कई स्थानों पर वाटर लीकेज होने से बहुमूल्य पेयजलल बर्बाद होता है, जिसके कारण समुचित जलापूर्ति ग्राम में नही हो पाती है, जिसे तत्काल रोकने के प्रभावी उपाय अधि0अभि0 उ0प्र0 जल निगम द्वारा किये जाये, ताकि पाइप पेयजल योजनाओं से ग्रामों में समुचित जलापूर्ति हो सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here