दूषित पानी पीने को है ग्रामीण मजबुर

0
66

मिर्ज़ापुर(ब्यूरो)- अहरौरा मे स्थीत श्री रामपुर पहाडी़ अहरौरा बाधं के समिप लगभग ५०० की आबादी वाला गांव पानी की कील्लत से है परेसान।पानी की परेसानी को लेकर स्थानीय लोगो ने पूर्व मडी़हान विधायक ललितेश पति त्रीपाठी से कई बार इसकी सीकायत की है लेकीन अब तक कोई ठोस कदम उठाया नही गया।

मौजूदा विधायक रमाशंकर पटेल ने पानी की किल्लत दूर करने के लिए टैंकर से पानी पहुचाने का दावा किया था लेकिन इनका भी दावा सिर्फ हवा हवाई ही रहा और आज गर्मी अपने चरण सीमा पर है,इसकी सुचना एस डी एम को भी लिखीत रुप से ग्राम प्रधान कमलेश ने दे रखी है।

१ महीना पुर्व वि डी ओ के द्वारा सर्वे भी कीया गया था लेकीन पुरा मामला कागजो तक ही सीमट के रह गया। संन्ग्यान मे डाल दे की दो सरकारी हैण्डपंप भी है लेकीन उसमे पानी नही आता। बचा खुचा एक कुआ है जिसका पानी गर्मीयो मे सुख जाता है कुवे के तलहटी से गन्दा पानी नीकलता है जिसे पीने से लोग बिमार पड़ रहे है वही दुसरी तरफ बनवासी कोल व मजदुर तपके के लोग है जो इसी पानी को पीने को पीते है।जिनके पास ट्राली है वो १ कीलोमीटर दुर से पानी लाते है।

इसी गांव के बगल में हिनौता गांव में भी पेयजल का संकट लगभग गांव बसने के पहले से ही है, यहा 3-4 कुवा है लेकिन आज पास हो रहे अवैध ब्लास्टिंग और खनन से शुख चूका है, तपती दोपहरी में बच्चे और महिलाय 2 किलोमीटर दूर से पानी लाती हैं,इनका कहना है वोट मांगने वक्त नेताओ की आने का होड़ लग जाता हैं, लेकिन हमलोगों का दर्द का दवा किसी के पास नही,ऐसे में ये लोग किससे गुहार लगाये समझ नही आता।

रिपोर्ट-अंशु मिश्रा 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY