जल (पानी, वारिद, अम्बुद, तोय आदि आदि )

0
185

http://wrestlingtalks.com/wp-content/no-deposit-casino-bonuses-blog/ No deposit casino bonuses blog

अगर हम भारत वर्ष की बात करें तो हमारे पास भारत में संसार की 18% आबादी है और दुनिया का 4% पीने योग्य जल और दुनिया की 2.4% भूमि हैं इसका मतलब है की हम अच्छे में हैं और न केवल अच्छे हैं, बाकी की अपेक्षा बहुत अच्छे हैं, लेकिन क्या यह हमेशा के लिए रह सकता हैं, जी नहीं, हमारा जल तेजी से समाप्ति की ओर अग्रसर हो रहा है I जिस तरह से हम अपनी नदियों, तालाबों और जंगलो को समाप्त कर रहे हैं जल्द ही न तो हमारे देश का जल पीने लायक रह जाएगा और न ही वायु ही सांस लेने लायक I उसके बाद तो आप भी जानते है और हम ऊपर बता ही चुके हैं कि स्वच्छ जल और वायु के बगैर तो हमारा सांस लेना बहुत ही मुश्किल ही होने वाला है I

इसलिए मेरे दोस्तों अब समय आ गया हैं जब हम सभी को एक जुट होकर अपने देश के जल को और जंगल को बचाना चाहिए जिससे हम अपनी आने वाली पीढ़ियों को कुछ और भले न दे कर जाय कम से कम सुद्ध हवा और पानी तो देकर जाय I

नहीं तो मित्रों आने वाली हमारी अपनी खुद की संताने हमें कभी माफ़ नहीं करेंगी, हमें जल-वायु को बचाना ही होगा, आइये जुड़िये हमारे साथ और मिलकर करते हैं एक संयुक्त प्रयास, मरने नहीं देते हैं जल-वायु की आस I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY