भारी बारिश के चलते गर्मी से निजात तो वहीँ जलभराव से आवागमन में कठिनाई

0
71

सोनभद्र(ब्यूरो)– जनपद समेत नगर, कस्बा व आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में बुधवार सुबह से हो रही मूसलाधार बारिश से जहां गर्मी से लोगो को राहत मिली और सुहाना मौसम होने की वजह से लोगों ने जमकर लुफ्त उठाया लेकिन कई क्षेत्रों में पानी भरने से लोगो को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। खासतौर से चोपन स्थित कैलाश मंदिर क्षेत्र में रह रहे घर और दुकानदारों को गंभीर समस्या से दो चार होना पड़ रहा है। महिला सुरक्षा एवं जनसेवा की सावित्री देवी ने जलभराव का सारा ठीकरा रोड निर्माण कंपनी चेतक पर फोड़ दिया हैं।

उनका कहना है कि चेतक कंपनी द्वारा बनाये गए बाई पास रोड की हालात का आलम यह है कि, कैलाश मंदिर क्षेत्रों में तो पूरा दिन लोग घरों में भरा गंदा पानी फेंकते रहे। सावित्री देवी ने कहा कि, यहा के स्थानीय निवासी बारिश होने की वजह से जितना परेशान नही है उतना तो चेतक कंपनी द्वारा निर्माण किये गए रोड और बाई पास रोड से परेशान है। सावित्री देवी ने बताया कि कई बार उन्होंने चेतक कंपनी की शिकायत सोनभद्र सांसद छोटेलाल खरवार को लिखित में दी है लेकिन केंद्र और राज्य में बीजेपी शासन होने के बावजूद आम लोगों की समस्या को अनसुना कर दिया जाता है। बीजेपी के कथनी और करनी में जमीन आसमान का अंतर वर्तमान में साफ नजर आ रहा है। शिकायत करने से कुछ नही होता है।

सावित्री देवी ने बताया कि कैलाश मंदिर के राहवाशियों ने चेतक के कार्यप्रणाली के खिलाफ जिला अधिकारी से भी गुहार लगाई थी लेकिन शासन-प्रशासन की उदासीन रवैये से नाराज़ लोगों ने अपने हक में आवाज न बुलंद करने की सलाह दे डाली। अब तो लोग बारिश का गंदा पानी अपने घर से बाल्टी भर-भर के बाहर फेकने को मज़बूर है। वही बीजेपी नेता मनोज सिंह सोलंकी का कहना है कि चेतक कंपनी द्वारा बनाये गए अंदर पास में जल-भराव होने से आने-जाने वालों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। अभी तो बारिश की मौसम की शुरुआत है आगे इससे भी गंभीर दुर्गति से लोगों का सामना करना पड़ेगा। अगर चेतक कंपनी जल्द ही समस्या का समाधान नही करती है तो लोग सड़क पर उतरने को मजबूर होंगे ।

रोड पर जल-भराव की स्थिति पर जब चेतक कंपनी के अधिकारियों से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने एक बार तो कॉल रिसीव किया लेकिन बात नही की और कॉल डिसकनेक्ट कर दिया। नगर वासियों का कहना है कि, जिस प्रकार कुछ लोगों का घर टूटने से बचाने के लिए स्टेट हाईवे 5 चोपन की रोड बनाई गई है। उसपर जांच कराई जानी अति आवश्यक है। बारिश की पानी चेतक कंपनी द्वारा बनाई गई नाली में कतई नही जाता। इस रवैया से आस-पास के दुकानदार व रहवासियों नीरज जायसवाल, अमित मौर्या, सोनू, अनिल सिंह, संतोष शर्मा, अजय विश्वकर्मा, मुकेश कुमार, शारदा देवी, शीला देवी, पार्वती, जय प्रकाश में भारी आक्रोश व्याप्त है।

लगातार हो रही वर्षा से जनजीवन पुरी तरह अस्त व्यस्त हो गया है लोगों को रोजमर्रा की चीजों से दो-चार होना पड़ रहा है साथ ही पशुओं को भी चारे की काफी समस्या हो रही है लगातार बारिश से नदी नाले उफान पर हैं । जिले की नदियां कर्मनाशा, बेलन, कनहर, बकहर समेत सोन बिजुल आदि नदियां स्थित है।

ज्ञात हो कि जुगैल क्षेत्र के ग्राम पंचायत गायघाट में बिजुल नदी पर बना छलका डूब जाने से लगभग आधा दर्जन गांव बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं बताया जा रहा है कि 2 दिन से लगातार बारिश होने के कारण बिजुल नदी अपने पूरे उफान पर आ गई है जिससे गाय घाट में बना छलका डुब गया है साथ ही सड़क भी बह गई है जिसके कारण गायघाट खराहरा टुसगांव भटवां देवखर हरदहवां गांव के लोगों को आवागमन के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, वही विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं को भी विद्यालय आने जाने में काफी असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है। बावजूद इसके जिला प्रशासन आँख मुंदे तमाशबीन बना बैठ हुआ है, लोगों के उक्त समस्याओं के प्रति जिला प्रशासन संजीदा नहीं दिख रहा है ।

रिपोर्ट- ज़मीर अंसारी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY