लंबित पत्रावलियों के निस्तारण पर हो रही देरी से बिफरे डी.एम.

कुशीनगर(ब्यूरो)- डीएम ने बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बैंक व विकास विभाग के अफसरों के साथ बैठक कर ऋण वितरण व जमा अनुपात की समीक्षा की। इस दौरान डीएम ने बैंकों में ऋण वितरण से संबंधित पत्रावलियों के लंबित होने पर नाराजगी जताते हुए लापरवाह अफसरों पर कार्रवाई का निर्देश दिया।

बैठक की शुरूआत में लीड बैंक मैनेजर एचएल कुशवाहा ने बताया कि बीते दिसम्बर महीने में ऋण जमा अनुपात जिले में 33.55 प्रतिशत था जो मार्च में बढ़कर 37.27 प्रतिशत हो गया। लीड बैंक मैनेजर ने बताया कि एसबीआई, पीएनबी, यूनियन बैंक, एक्सिस बैंक व आईसीआईसीआई बैंक का ऋण जमा अनुपात 30 प्रतिशत से कम रहने की वजह से कुल जमा अनुपात में अपेक्षित वृद्घि नहीं हो पा रही है।

डीएम आंद्रा वामसी ने बैंक अफसरों की कार्य प्रणाली पर नाराजगी जताते हुए कहा कि कुछ अफसर ऋण वितरण में रुचि नहीं ले रहे हैं। इससे उद्योग व व्यापार से संबंधित मामलों में तेजी नहीं आ रही है।

उन्होंने लीड बैंक मैनेजर को ऐसे लापरवाह अफसरों को चिह्नित करते हुए कार्रवाई करने का निर्देश दिया। डीएम ने सभी बैंक प्रबंधकों से सरकारी योजना से संबंधित कार्यों को पूरा करने में तेजी लाने का निर्देश दिया।

बैठक में पीडी राजेंद्र प्रसाद, जिला कृषि अधिकारी डॉक्टर उमेश गुप्ता, खादी ग्रामोद्योग अधिकारी महेंद्र यादव के अलावा सभी बीडीओ व विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

रिपोर्ट-राहुल पाण्डेय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here