जनपद में धरती फटने से अफरा-तफरी, कारण गिरता जलस्तर और बारिश न होना

0
79

उन्नाव(ब्यूरो)- उत्तर प्रदेश के मुख्यालय लखनऊ से मात्र 30 किलोमीटर हसनगंज तहसील के क्षेत्र के अंतर्गत गांव उदैत खेड़ा में सोमवार देर रात लगभग 100 मीटर तक धरती फट गयी धरती फटने की चौढ़ाई लगभग एक मीटर से अधिक है जिससे ग्रामीणों में अफरातफरी का माहौल बना हुआ है वही तहसील प्रशासन को इसकी जानकारी दे दी गयी है।घटते जलस्तर और भीषण गर्मी से धरती लगातार सूखती जा रही है।बारिश है कि वह भी धरती की प्यास नही बुझा पा रही है| इसी का नतीजा देखने को मिल रहा है कि सोमवार की देर शाम हरेन्द्र शुक्ला पुत्र महेन्द्र शुक्ला के खेत सोहरामऊ थाने के उदैत खेड़ा में है जहां शाम को उसके खेत की जमीन में एक हल्की सी दरार पड़ गयी।

जिसे ग्रामीणों ने देखा वही देर रात तेज धमाका भी ग्रामीणों ने सुनने की बात कह रहे है जिस पर मंगलवार को ग्रामीण जब फिर से पहुंचे तो लगभग 100 मीटर तक धरती फट गयी थी और इसकी चौड़ाई करीब एक मीटर थी इतने गहरी धरती फटी देख ग्रामीणों में कौतुहुल बना हुआ है।इस दौरान किसानों में गुरूप्रसाद, सुनील कुमार, आकाश, वासुदेव, बसंतु सहित सैकडों किसानों का मजमा लगा रहा।जिसके बाद ग्रामीणों ने इसकी सूचना तहसील कर्मचारियों को दी है।

धरती फटने की इस घटना से पूरे इलाके में दहशत का महौल बना हुआ है।वही ग्रामीण इस घटना को बारिश और लगतार गिरते भूगर्भ जलस्तर को भी इसका कारण बता रहे है पर कुछ लोगों में इस घटना को किसी तरह के दैवीय आपदा से भी जोड़ कर देखा जा रहा है।कुल मिलाकर क्षेत्र में तरह तरह की चर्चाऐं हो रही है।

रिपोर्ट- मनोज सिंह 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here