पुण्य लाभ के लिये धोपाप में उमड़ा सैलाब, लगाय डुबकी

0
52

सुल्तानपुर(ब्यूरो)- जिले के प्रसिद्ध तीर्थ राज धोपाप में रविवार को आस्था का सैलाब उमड़ आया। पुण्य अर्जित करने के लिये आदि गंगा गोमती में श्रद्धालुओं ने डुबकी लगाई। गोमती नदी के तट पर गौ दान भी किया। रियासत के भव्य श्री राम जानकी मंदिर में विधिवत पूजा अर्चना की। बाद में याचकों को अन्न दान भी किया। भोर में तीन बजे से शुरू हुआ स्नान पर्व अपरान्ह बाद तक जारी रहा।

तहसील के शाहगढ़ – लोटिया गांव की सीमा पर यह तीर्थ स्थल मौजूद है। प्रतिं वर्ष जेठ मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को धोपाप में आस – पास ही नही, वरन दूर – दराज के इलाकों से भी श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ती है।

रविवार को भी भोर में करीब तीन बजे से श्रद्धालुओ की भीड़ पहुँचनी शुरू हो गयी। गोमती नदी के राम घाट पर श्रद्धालुओं ने डुबकी लगाई। पुण्य अर्जित करने की अभिलाषा में पहुँचे श्रद्धालुओं ने आदि गंगा गोमती की पूजा अर्चना की। बुजुर्गों ने वैतरणी पार करने के लिये हिन्दू शास्त्रों में वर्णित गौ दान भी किया।

स्नान के बाद श्रद्धालु 52 सीढ़ियां चढ़कर टीले पर मौजूद रियासत के भव्य श्री राम मंदिर परिसर में भी पहुँचे। मंदिर के गर्भगृह में मौजूद विग्रह का दर्शन – पूजन भी किया। मंदिर में स्फटिक निर्मित प्राचीन शिवलिंग पर जलाभिषेक के लिये भी भारी तादात में लोग पहुँचे। इसके अलावा माँ दुर्गा के शक्ति स्वरुप की पूजा की गयी। बाद में वापस लौटते हुये लोगों ने मेला क्षेत्र में मौजूद याचकों को अन्न दान की परंपरा का निर्वहन किया। भोर में तीन बजे से शुरू हुआ स्नान पर्व अपरान्ह बाद तक जारी रहा।
प्रसाद- शर्बत वितरण की लगी रही होड़
मेला क्षेत्र में आये श्रद्धालुओं की सुविधा के लिये सभी मार्गो पर जागरूक लोगों ने स्टॉल लगा रखे थे।कई वर्षों से दुबौली की बाग़ में पूड़ी-सब्जी के भंडारे की व्यवस्था इस बार भी की गयी थी।कस्बे के अलावा सभी गांवों में शर्बत और पानी के स्टॉल लगे थे।

शोभीपुर में सेवानिवृत्त अवर अभियंता एस बी सिंह ने भी बीते वर्षो की तरह जलजीरा, शर्बत और पानी के स्टॉल लगवाए थे। अखिल भारतीय व्यापार मंडल के बैनर तले मंदिर परिसर में टीले पर ही बूंदी का प्रसाद वितरित कराया गया। माँ शीतला धाम बनकठवा में समिति के अमिताभ द्विवेदी, नितेश द्विवेदी, जयंत, मनीष आदि के सहयोग से शर्बत- पानी की व्यवस्था की गयी थी।

रिपोर्ट-संतोष यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY