दुर्ग आरटीओ ने की पम्प पर खड़ी गाड़ियों के ऊपर कार्यवाही

0
728

डोंगरगढ़/छत्तीसगढ़(राज्य ब्यूरो)- दिनांक 16/7/2017 को मुखबिर की सूचना पर कक्कड़ फ्यूल पम्प खैरागढ़ रोड में पम्प पर खड़ी 4 ट्रको में से तीन ट्रकों की गई ओवर लोडिंग कार्यवाही की, जिसमे वहाँ खड़ी 2 ट्रकों में 20/20 टन ओवर लोडिंग पाया गया और 1 ट्रक में 14 टन ओवर लोड पाया गया| इस पेट्रोल पंप में चार गाड़ी खड़ी थी एक गाड़ी जिसको चेक करने की बात चल रही थी लेकिन उस गाड़ी में कम लोडिंग होने के कारण उस गाड़ी को छोड़ दिया गया| दुर्ग आरटीओ एसआई पंचम सिंह से जब हमने बात की तो उनका कहना था कि जिस गाड़ी को हमने चेक किया तो वह सिर्फ 25 टन लोड की गाड़ी है, इस वजह से उस पर हम कार्यवाही नही किये कम लोड थी| हम इस गाड़ियों का पीछा करते हुए यहाँ आये है|

ट्रक मालिक का कहना है कि ट्रक कल रात से यही खड़ी है, जिसको हम क्रासिंग के लिए यहाँ पर पहले ही ला कर खड़ी कर दिए थे| आज रविवार को लेबर नही मिलने से हम गाड़ी क्रासिंग नही कर पाए और अचानक दुर्ग से आरटीओ के अधिकारी यहाँ हमारे पेट्रोल पंप में पहुच कर खड़ी गाड़ीयो पर ओवर लोड की कार्यवाही करने लगे और मेरी तीन गाडियों पर चालान काट दिया, जिसका सीसीटीवी फुटेज मेरे पास है| उसके बाद भी आरटीओ के अधिकारी मेरी खड़ी ट्रक पर कार्यवाही कर रहे है, इस कार्यवाही में आरटीओ के साथ डोंगरगढ़ पुलिस भी वहाँ मौजूद दिखी|

उक्त चारो ट्रक कक्कड़ फियूल पेट्रोल पम्प के मालिक दलजीत सिंह भाटिया की है, जो एनडीएच के नाम से चलती है जिसमे तीन गाड़ियों का अलग-अलग चालान कटा गया| काटी गई रकम 186000 रु बताई गई है लेकिन जिस एक ट्रक को काटा करवाने की बात चल रही थी और जाँच नही किया गया की उस ट्रक को बिना जाँच के ही छोड़ दिया गया और जब हमने इस विषय को लेकर बात की तो फिर वही जवाब दिया गया की सिर्फ उसमे 25 टन माल लोडिंग है| हम गाड़ियों पर कही भी चालानी कार्यवाही कर सकते है| चाहे गाड़ी कहीं भी हो आरटीओ के अधिकारी का ये कहना था और गाड़ी में बैठे-बैठे ही हमारी बात का जवाब दिया इस कार्यवाही को करते समय वहाँ का माहौल कुछ अजीब सा हो गया था और आरटीओ के अधिकारी भी बार-बार अपने उच्चाधिकारियों से फोन पर बात कर रहे थे| जब हमने अधिकारी से बाइट लेना चाहा तो उन्होंने हमें थाने में चलने को कहा और कहा मैं वही पर आप को बाइट दूँगा लेकिन मीडिया के साथियो ने जब कहा की जिस जगह आप कार्यवाही कर रहे हमे यही आप से कुछ पूछना है तब जाकर अपनी गाड़ी में बैठे-बैठे हमारे सवालों का जवाब दिया| ट्रक मालिक का कहना है था कि मैने गाड़ी क्रासिंग के लिए खड़ा किया था और शासन का सहयोग करना चाहता था उसके बाद भी मेरी खड़ी गाड़ी पर कार्यवाही की गई है| जिससे मुझे लाखो रु का चालान देना पड़ा ।

रिपोर्ट- महेंद्र शर्मा (बंटी)/हरदीप छाबड़ा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY