वार्षिक परीक्षा में एक बार फिर लगा भ्रष्टाचार का ग्रहण

0
50

जौनपुर(ब्यूरो)- वीर बहादुर सिंह पूर्वाचंल विश्वविद्यालय की चल रही वार्षिक परीक्षा में एक बार फिर भ्रष्टाचार का ग्रहण लग गया। इस विश्वविद्यालय के परीक्षा में बीएससी मैथ का पेपर आउट होने के कारण बीएससी प्रथम, द्वितीय , तृतीय और एमएससी प्रथम और द्वितीय इग्जामनेशन को रद्द कर दिया है। यह परीक्षाएं 30 मार्च से 15 अप्रैल के बीच होनी थी।
वीर बहादुर सिंह पूर्वाचंल विश्वविद्यालय एक बार सुर्खियों में आ गया है। इस बार तो बीएससी मैथ का पेपर लिक होने से विश्वविद्यालय प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

कुलपति ने बीएससी प्रथम द्वितीय तृतीय और एमएससी प्रथम और द्वितीय इग्जामनेशन को टाल दिया है। कुलपति पीयूष रंजन अग्रवाल ने बताया कि जल्द ही इन विषयो की परीक्षा तिथि घोषित कर दी जायेगी। उन्होंने परीक्षा रद्द करने के बारे बताया कि पहले मैथ के पेपर लिक होने से आंदेशा बढ़ गया है कि कहीं और विषयों की पर्चा आउट हो सकता है। उन्होंने कहा पेपर लीक किये जाने का राजफास करने के लिए एक कमेटी गठित कर दिया गया है। ये टीम अपना काम भी शुरू कर दिया है और पुलिस स्टेशन में एफआईआर भी दर्ज करा दिया गया है। पुलिस भी अपना काम कर रही है।

रिपोर्ट- डॉ. अमित कुमार पाण्डेय
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY