बड़रॉव ब्लॉक में शिक्षा माफियाओं की बल्ले-बल्ले

0
85


मऊ : आज से यूपी बोर्ड इलाहाबाद द्वारा संचालित हाई स्कूल एवं इंटरमीडिएट की परीक्षा प्रारम्भ हो गई है। परीक्षा प्रारम्भ होने से पहले शिक्षा सचिव से लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक तक दावा करते थे की इस बार नकल विहीन परीक्षा सम्पन्न कराई जायेगी लेकिन आज पहले दिन ही जनपद के बड़रॉव क्षेत्र के लगभग सभी विद्यालयों में जम कर नकल हुई यहाँ तक की इस क्षेत्र के कई सहायता प्राप्त विद्यालयों में भी खुलेआम नकल हुई। आगे की परीक्षा में सुचारू रूप से नकल कराने के लिये 2500 से 3000 रुपये की मांग की गई। जब इस विषय में एक सहायता प्राप्त स्कूल के एक कर्मचारी से पूछा गया तो उसने नाम न छापने के शर्त पर बताया कि हमारे प्रबंधक जी का आदेश है कि विद्यालय पर नकल करा कर सुविधा शुल्क वसूला जाय।

जब इस विषय में गहनता से जांच की गयी तो क्षेत्रीय लोगों ने बिस्तृत जानकारी दिया कि इस क्षेत्र में सहायता प्राप्त विद्यालयों में नकल कराने का खेल विगत कई वर्षों से हो रहा है। अब सवाल यह उठता है कि शिक्षा माफिया तो वित्त विहीन विद्यालयों को कहा जाता था लेकिन अब सहायता प्राप्त विद्यालयों को किस शब्द से नवाजा जाय।

रिपोर्ट–रमेश सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY