सार्वजनिक भूमि तथा चकरोड, खलिहान, तालाब, शमशान, कब्रिस्तान व ग्राम सभा की भूमि से तत्काल अवैध कब्जे हटाये जाये: चन्द्र कान्त

0
133

मैनपुरी(ब्युरो) – नई सरकार से जनता को काफी अपेक्षायें है, सत्ता परिवर्तन का प्रभाव तत्काल दिखता नज़र आ रहा है। आदेश है कि तहसील, थानों, विकास खण्डों में जनता की शिकायतो को सुनकर और उनका समयबद्ध , गुणवत्तापरक निस्तारण किया जाये ताकि फरियादी को दोबारा अपनी शिकायत लेकर न आना पडे़, चेकिंग के दौरान किसी के साथ अभद्रता न की जाये, आपके आचरण से आम आदमी को परेशानी, शर्मिन्दगी न हो। सभी के साथ शालीनता से पेश आयें, कार्यालयों, विद्यालयो, चिकित्सालयों में समय से उपस्थिति सुनिश्चित हो , चिकित्सक डियूटी के दौरान प्रापर ड्रेस में रहे। जो चिकित्सक जहां तैनात है वह रात्रि में भी रहे, किसी भी मरीज को बाहर की दवा न लिखी जाये , तहसील दिवस, थाना दिवसों में उपस्थित न होने वोले अधिकारियो के विरूद्ध कार्यवाही की जाये, शिकायतों का गुणवत्तापरक निस्तारण न करने वाले अधिकारियो का वेतन रोका जाये, महिला अपराध में संलिप्त के विरूद्ध किसी भी स्तर पर कोताही न बरती जाये दोषियो के विरूद्ध तत्काल प्रभावी कार्यवाही की जाये।

उक्त निर्देश आयुक्त आगरा मण्डल आगरा चन्द्र कान्त ने समीक्षा बैठक के दौरान उपस्थित अधिकारियो केा दिेये। उन्होने उप जिलाधिकारियो से कहा कि अभियान चलाकर सार्वजनिक भूमि यथा चकरोड, खलिहान, तालाब, शमशान, कब्रिस्तान ,ग्राम सभा की भूमि से तत्काल अवैध कब्जे हटाये जायें, अधिकारी आपस में समन्वय स्थापित कर कार्य करें। उन्होने विधान सभा सामान्य निर्वाचन में सभी के द्वारा आपसी सामंस्य के साथ किये गये कार्य की सराहना करते हुए कहा कि आप सबने ही भारत निर्वाचन आयोग के आदेशो का अक्षरशः पालन कराते हुए निर्वाचन को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष माहौल में सम्पन्न कराया , आप सब उसी भावना से बिना किसी के दबाव में निष्पक्ष रहकर नई सरकार के संकल्प पत्र को धरातल पर लागू करायें, शरारती तत्वों , महिलाओ के संग अभद्र व्यवहार करने वालो से सख्ती से निपटा जाये। उन्होने कहा कि सरकार के आदेश, अपेक्षाओ को पूरा करना सरकारी तंत्र की जिम्मेदारी है, जिसे हम सबको निभाना है।

आयुक्त ने कहा कि ऐसी कार्य योजना बनायी जाये जिससे जनता को परिवर्तन महसूस हो, आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतो के निस्तारण सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। आपका यह भी दायित्व है कि उनका समयबद्धता के साथ गुणवत्तापूर्वक निस्तारण किया जाये। आईजीआरएस पोर्टल पर शिकायते अनिस्तारित न रहें। दो माह पूर्व शिकायतो के निस्तारण मे जनपद प्रदेश में नम्बर 01 पर था परन्तु आज जनपद 05 नम्बर पर पहुँच गया है , अधिकारी शिकायतो के निस्तारण को गभ्भीरता से ले। उन्होने कहा कि छोटी-छोटी घटनाओं पर ध्यान दिया जाये , कोई छोटी घटना होने पर उसका बेस्ट समाधान किया जाये। जनपद में होने वाली घटनाओ की सूचना तत्काल उच्चाधिकारियो को समय से उपलब्ध करायी जाये ताकि समय से समाधान हो, उन्होने कहा कि अधिकारी जब भी निरीक्षण करने जाये संयमित भाषाशैली के साथ शालीनता का व्यवहार करें। उन्होने परिवहन विभाग के अधिकारियो से कहा कि ट्रैफ़िक प्लान बनाया जाये, कोई भी अनाधिकृत वाहन न चलें, ओवरलोडिंग रोकी जाये, वाहनो को निर्धारित स्थान पर ही खड़ा कराया जाये।

मण्डलायुक्त ने कहा कि नई सरकार की येाजनाओ को धरातल पर उतारने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन एवं सभी अधिकारियो, कर्मचारियो की है। उन्होने कहा कि 15 दिन में पुनः समीक्षा की जायेगी । जनपद में शान्ति व्यवस्था बनाये रखे कहीं किसी भी स्तर पर कोई कोताही न बरती जाये, सामाजिक सौहार्द बनाये रखने के लिए पीस कमेटी की बैठके आयेाजित की जाये, कमेटी में गणमान्य असरदार लोगो जिनकी जनता पर पकड़ हो, को शामिल किया जाये।

उप महा निरीक्षक आगरा परिक्षेत्र आगरा एम.के.मिश्रा ने कहा कि जनता का विश्वास पुलिस से हट रहा है जिसे बनाये रखना होगा, जनता के बीच विश्वास पैदा करना होगा पुलिस का जनता से 24 घण्टे नाता है कोई भी व्यक्ति किसी भी समय मदद आपको फोन कर सकता है, आपसे मिल सकता है आप शालीनता के साथ उसकी बात सुने और उसकी मदद करें, किसी भी व्यक्ति से किसी भी दशा में अभद्र, अमर्यादित भाषा का प्रयोग न करें, यदि किसी पुलिस कर्मी, थानाध्यक्ष द्वारा किसी के साथ अभद्रता की गयी तो उसके गभ्भीर परिणाम भुगतने होगें। पुलिस जनता, जन शिकायतो के प्रति संवेदनशील बने, निहित स्वार्थो से ऊपर उठकर जन शिकायतो का त्वरित निस्तारण करें। धार्मिक स्थलों , संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल तैनात किया जाये, मिश्रित आबादी वाले स्थानो पर स्वयं थानाध्यक्ष भ्रमणकर जायजा लें। हाईवे, एक्सपे्रसवे के किनारे बसे ग्रामों का भी भ्रमण किया जाये,वहां निवास कर रहे शरारती तत्वों,अपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियेां को चिन्हित किया जाये।

श्री मिश्र ने कहा कि महिलाओ पर होने वाले अपराधों के प्रति संवेदनशील होकर कार्य करें। उन्होंने कहा कि छेड़खानी की शिकायतें बढ़ रही है इससे सख्ती से निपटा जाये, बालिकाओ से अश्लील टिप्पणी करने वालों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। उन्होने कहा कि सभी समुदायो में साम्प्रदायिक सौहार्द तथा भाई चारे की भावना कायम रहे, आपसी सौहार्द बिगड़ने की कोशिश करने वालो से कड़ाई से निपटा जाये। उन्होने कहा कि गोकसी पर पूर्णतया प्रतिबन्ध लगाया जाये, गोकसी की कोई घटना न घटित हो, अवैध रूप से संचालित स्लाटर हाउस, मांस की दुकानो को तत्काल बन्द कराया जाये। श्रीदेवी मेला में पुलिस, प्रशासन के अधिकारी आपस में समन्वय स्थापित कर मेला को व्यवस्थित तरीके से सम्पन्न कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि बिना कारण के किसी भी व्यक्ति को थानें में न रोका जाये, थाने में अकारण कोई व्यक्ति पाया गया तो सीधे तौर पर संबंधित थानाध्यक्ष जिम्मेदार होगें और उनके विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

बैठक में, प्र. जिलाधिकारी विजय कुमार गुप्ता, पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सक्सेना, अपर जिलाधिकारी ए.के.श्रीवास्तव, अपर पुलिस अधीक्षक शिष्य पाल समस्त उप जिलाधिकारी, समस्त जिला स्तरीय अधिकारी, समस्त क्षेत्राधिकारी, थानाध्यक्ष आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- दीपक शर्मा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY