हल्द्वानी के जंगल में मिली आठ साल की अपहृत बच्ची

0
85

उत्तराखंड(ब्यूरो)– हल्द्वानी के कुसुम खेड़ा क्षेत्र में मंगलवार देर शाम अपहरण की गई एक आठ साल की बच्ची 12 घंटे बाद गोरा पड़ाव के जंगल में मिली। पुलिस ने बच्ची का हल्द्वानी के नजदीकी अस्पताल में मेडिकल कराया है| आरोपी ऑटो चालक की पुलिस तलाश कर रही है। बताया जा रहा है कि मूलत: बहराइच, यूपी निवासी एक महिला छह माह पहले मजदूरी के लिए हल्द्वानी आई थी। यहां कुसुम खेड़ा के पास आरके टेंट हाउस रोड पर वह एक निर्माणाधीन मकान में काम कर रही है। इसके पास ही दस वर्षीय बेटे और आठ साल की बेटी संग झोपड़ी बनाकर रहती है।

बेटे के बताए रास्ते पर की गयी बच्ची की तलाश
– मंगलवार को महिला मजदूरी के लिए मंडी गई थी। शाम पांच बजे वह लौटी तो बेटी गायब थी। बेटे ने बताया कि दोपहर में एक ऑटो वाला झोपड़ी के पास आया था। उसने पहले तो बच्चों से बीड़ी मंगवाई, बीड़ी पीने के बाद वह दोनों को घुमाने के बहाने ले गया। कुछ आगे जाकर उसने भाई को उतार दिया, जबकि बच्ची को लेकर फरार हो गया। पुलिस ने महिला के बेटे के बताए रास्ते पर बच्ची की तलाशी की, लेकिन कुछ पता नहीं चला।

आरोपी ऑटो चालक की गिरफ्तारी के प्रयास में पुलिस जुटी– पुलिस ने रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, ऑटो-टैक्सी स्टैंड पर भी पता किया पर बच्ची का पता नहीं चला। बुधवार सुबह करीब चार बजे बच्ची गोरा पड़ाव के जंगल में एक ठेकेदार को मिली। उन्होंने बच्ची को मोहल्ले की ही आशा कार्यकत्री के सुपुर्द कर दिया। बुधवार सुबह आशा कार्यकत्री ने अपहरण हुई बच्ची की पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी और फिर पुलिस ने बच्ची को अपनी सुरक्षा में लेकर उसका मेडिकल टेस्ट कराया है। सी.ओ लोक जीत सिंह ने बताया कि आरोपी ऑटो चालक की गिरफ्तारी के प्रयास में पुलिस जुटी हुई है, जल्द ही आरोपी पकड़ा जायेगा ।

रिपोर्ट- मो. शादाब

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here