यूएस में नहीं थम रही है नस्लीय भेदभाव की घटनाएं, एक और सिख युवती हुई शिकार

0
181

न्यूयॉर्क- दुनिया के सबसे सभ्य देशों में शुमार अमेरिका में भारतवासियों के साथ हो रही नस्लीय भेदभाव की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं| एक के बाद एक हिंदुस्तानियों के साथ नस्लीय भेदभाव की घटनाएं आम सी हो गई हैं| इसी क्रम में आपको बताते चलें की हाल ही में एक मामला न्यूयॉर्क में भी देखने को मिला | अमेरिका के प्रतिष्ठित अखखबार न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक न्यूयॉर्क में एक युवती को भी एक अमेरिकी व्यक्ति द्वारा नस्लीय टिप्पणी का सामना करना पड़ा | अमेरिकी व्यक्ति ने उसे अपने देश लेब नान लौट जाने के लिए कहा था |

दोस्त की बर्थडे पार्टी में सम्मिलित होने जा रही थी महिला-
न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के मुताबिक राजश्री नाम की एक सिख महिला अपने दोस्त की बर्थडे पार्टी में शामिल होने के लिए सबवे ट्रेन से जा रही थी | तभी यह वाक्या हुआ | इस दौरान ट्रेन के भीतर ही एक अमेरिकी नागरिक राजप्रीत पर जोर-जोर से चिल्लाने लगा | उसने कहा कि तुम इस देश की नहीं हो और तुम्हारा यहां से कोई ताल्लुक नहीं है| उसने कहा तुम अपने देश लौट जाओ | बता दें कि राजप्रीत ने अपने साथ हुए इस वाकए का एक वीडियो बयान न्यूयॉर्क टाइम्स अखबार के दिस वीक इन हेट सेक्सन में अपलोड किया है | न्यूयॉर्क टाइम्स का यह सेक्शन अमेरिका के नए राष्ट्रपति ट्रंप के सत्ता में आने के बाद अमेरिका में पढ़ रहे नस्लीय भेदभाव और नफरत के मामलों पर ध्यान देने के लिए विवश करता है |

अन्य लोगों की आँखों में भरे थे आंशू-
राजदीप राजप्रीत ने बताया है कि जिसमें वह सबवे ट्रेन में सफर कर रही थी तभी एक अमेरिकी स्वेत नागरिक उनके पास आया और उनके ऊपर जोर जोर से चिल्लाने लगा | उसने कहा तुम यहां से चली जाओ तुम्हारा इस से कोई ताल्लुक नहीं है | तुम अपने देश लौट जाओ | राजप्रीत ने हालांकि यह भी कहा है कि जिस समय वह अमेरिकी नागरिक ट्रेन से बाहर निकला उस समय उन्होंने देखा की ट्रेन में खड़ी महिला उनकी तरफ देख रही थी और उसकी आंखों में आंसू भरे हुए थे | उन्होंने यह भी कहा है कि इस मामले की सबसे बड़ी बात यह रही कि इस पूरे वाकये के दौरान बाकी के लोग खड़े होकर तमाशा नहीं देख रहे थे | बल्कि मेरे साथ सफर कर रहे दो अमेरिकी यात्रियों ने उनकी पूरी मदद की |

पहले भी हो चुके है ऐसे हादसे –
आपको बता दें कि ऐसा नहीं है कि यह कोई पहला मामला है जब अमेरिका में किसी भारतीय के साथ ऐसा दुर्व्यवहार किया गया हो | इससे पहले अमेरिका में भारतीय मूल की एक और महिला को सबवे ट्रेन में ही नस्लीय भेदभाव का शिकार होना पड़ा था। गौरतलब है कि कुछ दिन पूर्व ही कैंजस शहर में एक भारतीय इंजीनियर श्रीनिवासन कुचिभोतला की हत्या कर दी गई थी | इसके अलावा मार्च महीने में ही 39 वर्षीय सिख व्यक्ति की उसके घर के सामने ही कार में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी | इन सभी खबरों में हमलावरों ने भारतीय मूल के नागरिकों को वापस अपने देश लौट जाने के लिए कहा था।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY