दो वर्ष से मानदेय न मिलने से खफा संविदा पर तैनात एक दर्ज़न एनएम ने गेट पर जड़ा ताला

बलिया(ब्यूरो)– दो वर्ष से मानदेय न मिलने से खफा संविदा पर तैनात प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र कोटवा की एक दर्जन एएनएम शुक्रवार को चिकित्सा केन्द्र के मुख्य चौनल गेट पर ताला जड़ते हुए क्रमिक अनशन शुरू कर दी। एएनएम का आरोप था कि विभाग काम तो ले रहा है, लेकिन पगार नहीं दे रहा। इसकी वजह से सभी एएनएम आर्थिक रूप से परेशान है। करीब चार घंटे बाद पहुंचे प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. देवनीति सिंह ने जबरिया ताला खुलवा दिया।

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कोटवा पर वर्ष 2014 में एक दर्जन एएनएम को संविदा पर तैनात किया गया। तब से संविदा पर तैनात एएनएम से सभी कार्यो में योगदान लिया जा रहा है। यही नही, एएनएम को कार्य के लिए दूसरे सेंटरों पर भी भेजा जाता है। बावजूद दो वर्षों से इनको पगार नहीं मिली। इससे इनका पूरा परिवार भुखमरी के कगार पर पहुंच गया है। संविदा पर तैनात एएनएम जिलाधिकारी व सीएमओ को पत्रक भी दी, ताकि मानदेय मिल जाय। बावजूद किसी ने ध्यान नहीं दिया। इससे नाराज एएनएम शुक्रवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के चौनल गेट पर ताला जड़ कर क्रमिक अनशन पर बैठ गयी। करीब चार घण्टे बाद पहुंचे प्रभारी चिकित्सा अधिकारी ने जबरिया ताला खुलवाया। लेकिन संविदा पर तैनात एएनएम दिन भर क्रमिक अनशन पर बैठी रही।

एएनएम ने चेतावनी दिया कि अगर जल्द वेतन नहीं दिया गया तो हम क्रमिक अनशन को आमरण अनशन में बदल देंगे। इस बावत प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डाक्टर देवनीति सिंह ने बताया कि तत्कालीन सीएमओ डॉ. पीके सिंह के आदेश पर दूसरे फण्ड से सात माह का वेतन एएनएम को दिया गया है। अब फण्ड नहीं है। इसके लिए सीएमओ से बात किया हूं। बताया कि 20 दिनों के अंदर खाली एएनएम के स्थान पर पहले संविदा एएनएम को समायोजन किया जाएगा। इसके बाद तत्काल वेतन दे दिया जायेगा। रमिता सिंह, रेखा गिरी, सुनीता वर्मा, इंदु यादव, पिंकी, गुड्डी गुप्ता, आरती देवी इत्यादि मौजूद रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here