प्रतापगढ़ : विश्वनाथगंज विधानसभा के लिए प्रत्याशी भी अहम होंगे और चुनाव भी

0
802

pratapgarh
प्रतापगढ़ : उत्तर प्रदेश की ऐतिहासिक धरती जनपद प्रतापगढ़ का इतिहास सबसे अलग है यहां 2011 में विधानसभाओं का सर्वे कराया गया उस सर्वे में प्रतापगढ़ पट्टी रानीगंज बाबागंज कुंडा रामपुर लालगंज बनाया गया 2012 में चुनाव हुआ रानीगंज से शिवाकांत ओझा पट्टी से राम सिंह पटेल प्रतापगढ़ से मुन्ना यादव बाबागंज से विनोद सरोज कुंडा से निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह राजा भइया एवं ग्राम पुर लालगंज से आदर्श विधायक प्रमोद तिवारी तथा विश्वनाथगंज बिधानसभा से राजाराम पांडे जी निर्वाचित हुई है |

प्रतापगढ़ जनपद के इस चुनाव में विजयी विधायकों में विश्वनाथगंज विधायक राजाराम पांडे एवं कुंडा के विधायक कुंवर रघुराज प्रताप सिंह राजा भइया को सरकार में मंत्री बनाया गया | समाजवादी सरकार में प्रतापगढ़ जनपद को 2 कैबिनेट मिनिस्टर मिले बाद में कुछ दिनों के बाद राजाराम पांडे जी को मंत्री पद से हटा दिया गया तो कुंडा के निर्दलीय विधायक राजा भैया को भी मंत्री पद से हटना पड़ा बड़ी जद्दोजहद के बाद कुंडा के राजा भैया को पुनः मंत्रिमंडल में वापस किया गया परंतु वह विभाग उन्हें नहीं मिला इसी बीच राजाराम पांडे जी मंत्री बनने के जुगाड़ में परेशान थे | मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ परंतु विश्वनाथगंज के विधायक रहे राजाराम पांडे जी को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंत्रिमंडल में जगह नहीं दिया इस सदमे से बौखलाए राजाराम पांडे जी दुनिया को छोड़कर विश्वनाथगंज विधानसभा को अलविदा कर गए, और प्रतापगढ़ एकबार फिर चुनावी समर की और बढ़ गया | लोकसभा के साथ प्रतापगढ़ जनपद की दो विधान सभाओं का उपचुनाव कराया गया विश्वनाथगंज के उपचुनाव डॉक्टर आर. के. वर्मा ने बाजी मारी तो वहीं दूसरी तरफ आदर्श विधायक प्रमोद तिवारी की पुत्री आराधना मिश्रा उर्फ मोना ने अपने पिता की विरासत संभाल ली और वह विधायक बन कर विधान सभा पहुंची |

सबसे खास बात तो यह है कि जब से विश्वनाथगंज विधानसभा बनी पहले विधायक राजा राम पांडे ने चुनाव जीता और वह अल्प समय में पंचतत्व में विलीन हो गए वहीं उपचुनाव में विधायक बने डॉक्टर आर. के. वर्मा के विधायक बनने के बाद पत्नी ने अल्प समय में विधायक जी का साथ छोड़ कर पंचतत्व में विलीन हो गई | यह है विश्वनाथगंज विधानसभा की विशेषताएं जब से नयी विधानसभा विश्वनाथगंज के नाम से बनी है तो 5 साल के अंदर विश्वनाथगंज विधानसभा के मतदाताओं को दो बार विधायक चुनने पड़े | बात 2017 का चुनाव तो विश्वनाथगंज विधानसभा के लिए प्रत्याशी भी अहम होंगे और चुनाव भी |

रिपोर्ट – अवनीश कुमार मिश्रा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here