लकड़ी की बल्लियों के सहारे चल रही जिले की विद्युत् सप्लाई

0
113
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतापगढ़(ब्यूरो)- जनपद प्रतापगढ़ के अंतर्गत विकास खंड मानधाता में कितने गांव ऐसे हैं जो वह आज भी लकड़ी की बल्ली लगाकर विद्युत का फायदा लेने को मजबूर हैं| विभाग आंख मूंदकर विद्युत कनेक्शन तो पंजीरी की तरह बांट रहा है परंतु समस्या इनसे परे हैं| विद्युत विभाग के इंजीनियर यस डी ओ अधिशासी अभियंता कम से कम जनता जनार्दन के बीच में क्षेत्र भ्रमण करके हकीकत तो देखें| आज जो लोग 10-15 साल से विद्युत कनेक्शन लेकर बिल दे रहे हैं |वास्तव में विद्युत विभाग की कोई जिम्मेदारी है या नहीं है जनता जनार्दन आज के भौतिक सुख में ऑफिस जा कर पैसा जमा कर दिया कनेक्शन की रसीद मिल गई लेकिन वास्तविकता इसकी और कुछ है अपने पास से केबल लगाओ बिजली जलाओ या समरसेबल मोटर चलाओ|

अगर विद्युत कनेक्शन इस तरह बांटे जा रहे हैं तो पावर हाउस की छमता क्या है गरीब जनता किसान व्यापारी किस कदर परेशान है इन का दुख सुनने वाला कोई नहीं यदि विभाग द्वारा कोई कार्यक्रम भी चलाया जाता है तो यह कार्यक्रम समाज के कुछ ठेकेदारों तक सिमट कर रह जाता है गरीब की झुग्गी झोपड़ी तक पहुंचना बहुत दूर की बात रह जाती है यदि गरीब अमीर नेता अथवा बूथ स्तर का कार्यकर्ता वह चाहे किसी भी राजनीतिक दल का हो सरकार सबकी होती है और यदि कार्य निष्पक्षता से करवाना चाहिए यह अधिकारियों की नैतिक जिम्मेदारी भी है लेकिन विभाग आंख मूंदकर ऑफिस में बैठकर ठेकेदारों पर विश्वास कर सारा भुगतान कर देता है इसलिए समस्याएं आज तक बरकरार हैं|

रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY