इमरजेंसी की बात क्यों भूल गई कांग्रेस ? अरुण जेटली

0
378

दिल्ली- आज राज्यसभा में बोलते हुए केंद्रीय वित्तमंत्री श्री अरुण जेटली ने कांग्रेस से पूछा की केंद्र की सरकार के ऊपर असहिष्णुता का आरोप लगाने वाली कांग्रेस क्या इमरजेंसी के समय को भूल गयी है ?

केंद्रीय मंत्री ने आज राज्यसभा में अपने भाषण के दौरान कांग्रेस की जमकर खिंचाई की I कांग्रेस पर हमला बोलते हुए जेटली ने कहा है कि कांग्रेस आज पूरे देश में इस बात का चिल्ला-चिल्ला का प्रचार-प्रसार कर रही है कि देश आज असहिष्णुता का महौल व्याप्त हो रहा है, देश में चारों ओर असहनशीलता का माहौल बढ़ रहा है क्या इस बात का आरोप लगाने वाली कांग्रेस तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी के द्वारा लगायी गयी इमरजेंसी को भूल गयी है I

अरुण जेटली ने कांग्रेस को याद दिलाते हुए कहा है कि उस समय तो श्रीमती इंदिरा गांधी ने संविधान की धारा 21 को भी निलंबित कर दिया था I और जबकि आज देश में ऐसे कोई भी हालात नहीं है फिर भी कांग्रेस पूरे देश में घूम-घूम कर केंद्र चुनी हुई सरकार के खिलाफ ऐसा दुष्प्रचार कर रही है I

वित्तमंत्री ने अपने भाषण के दौरान इस बात पर भी चिंता जताई है कि इसी तरह के विपक्ष और राजनैतिक पार्टियों के रवैये से पाकिस्तान समेत दुनिया के कई देशों में लोकतंत्र हमेशा ही खतरे में बना रहता है I

वित्तमंत्री ने संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर का उल्लेख करते हुए कहा है कि बाबा साहब को हम केवल एक संविधान निर्माता के रूप में ही नहीं देखते है बल्कि हम उन्हें एक समाज सुधारक के रूप में भी देखते है I और वित्तमंत्री ने भाषण के दौरान कहा है कि बाबासाहब ने देश को एक ऐसा आदर्ष और मजबूत संविधान दिया है जिसमें सभी को नेत्रत्त्व करने का बराबर का अधिकार दिया गया है I

वित्तमंत्री श्री अरुण जेटली ने कल लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गाँधी के द्वारा कहे गये भाषण पर भी हमला बोला जिसमें उन्होंने कहा था कि आज संविधान की बात वह लोग करते है जिनका संविधान बनाने में कोई योगदान ही नहीं था I वित्तमंत्री ने आज जवाब देते हुए कहा है कि हमारी पार्टी के प्रेरणाश्रोत रहे श्री श्यामा प्रसाद मुखर्जी भी संविधान सभा के सदस्य थे और उन्होंने भी बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की ही तरह से देश को दिशा दिखाने में अहम् भूमिका निभाई है I

 

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here