48 घंटे से पम्पोर में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, 2 अधिकारी सहित 7 जवान शहीद

0
359

श्रीनगर – श्रीनगर के पम्पोर में सेना और आतंकियों के बीच पिछले 48 घंटे से मुठभेड़ लगातार जारी है, इस मुठभेड़ में सेना के 2 अधिकारी समेत कुल 7 जवान शहीद हो चुके है जबकि सेना ने 2 आतंकियों को भी मार गिराया है I सेना और आतंकियों के बीच लगतार जारी इस मुठभेड़ को देखते हुए पूरे इलाके में सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किये गए है I

सेना ने कहा आतंकियों खत्म करने में कोई जल्दबाजी नहीं करेंगे –
सेना ने कहा कि श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर पंपोर इलाके में एक सरकारी इमारत में छिपे आतंवादियों का सफाया करने की कोई जल्दबाजी नहीं है क्योंकि मुख्य उद्देश्य यह है कि सुरक्षाबलों को और नुकसान न हो । आतंकवादियों के खिलाफ अभियान को आज तीसरा दिन है ।

रीनगर आधारित चिनार कोर के जनरल अफसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘कोई समयसीमा नहीं है । कोई जल्दबाजी नहीं है । हमारा मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि हमें और कोई नुकसान न हो । इमारत को मुक्त कराने में जितना भी समय लगेगा, हम लेंगे ।’ सैन्य कमांडर ने कहा कि एंट्रेप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट एक विशाल परिसर है और छिपे आतंकवादियों का सफाया करने के लिए विशेषज्ञ बलों की आवश्यकता है ।

इसे भी पढ़ें – कैप्टन पवन कुमार के अंतिम संस्कार के लिए सेना ने हरियाणा के लोगों से की अपील

दुआ ने कहा, ‘दो मुख्य इमारतों को मुक्त करा लिया गया है और आतंकवादी अब तीसरी इमारत में जा छिपे हैं । यह 15 एकड़ में फैला विशाल परिसर है । इसमें तीन मुख्य इमारतें हैं । पास में कुछ अन्य इमारतें भी हैं ।’’ उन्होंने कहा, ‘यह मुख्य इमारत चार मंजिला है और उपरी तल पर कैंटीन है । इसमें 40-50 कमरे हैं, छोटे कमरों और शौचालयों को नहीं गिना गया है, और यह दस हजार वर्ग फुट का क्षेत्र है । इसलिए, प्रत्येक मंजिल की और हर कमरे की तलाशी की जानी है । इसलिए, इसे मुक्त कराने के लिए विशेषीकृत यूनिटों की आवश्यकता है ।’ दुआ ने कहा, ‘अभियान प्रगति पर है, मैं इस पर और कुछ नहीं कह पाउंगा, सिवाय इसके कि हमारी विशेषीकृत यूनिट केंद्रीय सशस्त्र अर्धसैनिक बलों के साथ पूरे तालमेल से काम कर रही हैं ।’

सेना ने सोमवार दोपहर बाद दूसरे आतंकी के भी मारे जाने की पुष्टि की है। सभी लश्कर आतंकी बताए जा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक, सेना अब ऑपरेशन के फाइनल स्टेज में पहुंच गई है। शनिवार को काफिल पर हमले के बाद आतंकी ईडीआई की इमारत में छिप गए, जहां से लगातार गोलीबार की जा रही है। बताया जाता है कि सुरक्षाबल के जवान इमारत के अंदर पहुंचने के कामयाब हो गए हैं और हर कमरे की तलाशी ले रहे हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले रविवार को एक आतंकी के मारे जाने की पुष्टि हुई थी। रविवार देर शाम तक कैप्टन तुषार महाजन के शहीद होने की पुष्टि हुई है। ईडीआई इमारत में छिपे हुए आतंकी लगातार सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर रहे हैं। इस मुठभेड़ में सीआरपीएफ के 3 जवान भी शहीद हुए हैं, जबकि एक नागरिक के भी मारे जाने की खबर है. 10 अन्य लोग भी घायल बताए जा रहे हैं।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here