अतिक्रमणकारियों पर आखिरकार गाज गिरनी तय

0
44

लालगंज/रायबरेली(ब्यूरो)- लालगंज कस्बे के साकेत नगर के पास से निकली आलमपुर नहरिया की पटरी के अतिक्रमणकारियों पर आखिरकार गाज गिरनी तय हो गई है। सिचाई विभाग के जिलेदारी कार्यालय उन्नाव से अवैध अतिक्रमणकारियों को नोटिस जारी कर एक सप्ताह के अंदर अपने निर्माण हटाने के आदेश जारी किये गये है। नहर विभाग की इस कार्रवाई से कब्जेदारो में हडकम्प मच गया है।

कभी क्षेत्र के किसानो की जीवनरेखा कहलाने वाली आलमपुर अल्पिका से सैकड़ो बीघे फसल की सिंचाई होती थी। लेकिन बदलते वक्त के साथ इसका स्वरूप बिगड़ता गया। नहर में पानी न आने के चलते किसानो ने अपने खेतो को बेचना षुरू कर दिया। देखते ही देखते सम्पूर्ण क्षेत्र आबादी से भर गया। मकान के स्वामियों की गिद्व नजर नहर की पटरी पर पड़ने लगी देखते ही देखते दोनो ओर पटरी पर मकान बनने षुरू हो गये। सुहाई बाग से लेकर आचार्य नगर तक एक साइड की सम्पूर्ण पटरी पर कब्जेदारो ने अपने मकान खड़े कर दिये है। एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में अल्पिका का सम्पूर्ण स्वरूप आज बदल चुका है।

प्रदेष के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सख्ती के बाद जागे नहर विभाग के अधिकारियो ने अपनी जमीनो का चिंहाकंन षुरू किया तो उन्हे पता चला कि आलमपुर अल्पिका का अस्तित्व ही खतरे में है। मौके की जांच पड़ताल के बाद अतिक्रमण की जानकारी नहर विभाग के अधिकारियों के कार्यालय उन्नाव भेज दी गई। जिसके बाद कार्यालय जिलेदारी प्रथम(लालगंज) उन्नाव खण्ड षारदा नहर उन्नाव के कार्यालय से समस्त अवैध कब्जेदारो को नोटिस जारी कर एक सप्ताह के अंदर अपने अपने अतिक्रमण हटाने के लिये कहा गया है। ऐसा न होने पर प्रशासन स्वयं कार्रवाई करेगा जिसकी क्षतिपूर्ति भी कब्जेदार से ही ली जायेगी। नहर विभाग के जिलेदार नरेन्द्र नाथ श्रीवास्तव ने बताया कि 35 लोगों के द्वारा अतिक्रमण कर नहर विभाग की जमीन पर कब्जा कर लिया गया है। जिसमे से 33 को नोटिस रिसीव करा दी गयी है।वहीं चांदाटीकर के पास से निकलने वाली रजौली माइनर पर कब्जा करने वाले दस लोगों के खिलाफ भी विभाग कार्यवाही करने जा रहा है। नौ लोगों को नोटिस रिसीव करा दी गयी है। एक व्यक्ति ने नोटिस रिसीव नही की है। कार्यवाही सभी के खिलाफ होगी।

रिपोर्ट- राजेश यादव 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY