Essar ग्रुप पर लगा अटल बिहारी वाजपेई, सहित कई बीजेपी दिग्गज और बिजनेस लीडर्स के फोन टैपिंग का आरोप, मोदी से शिकायत

0
619

दिल्ली- देश के प्रतिष्ठित एस्सार ग्रुप पर कई वीवीआईपी लोगों की फोन टैपिंग का आरोप लगा है | यह आरोप सुप्रीमकोर्ट के वकील ने लगाया है | सुप्रीमकोर्ट के जाने मने वकील ने पीएम नरेंद्र मोदी को भेजी अपनी शिकायत में कहा है कि ये फोन टैपिंग 2001 से 2006 के बीच की गई थी | जिन वीवीआईपी के टेलीफोन टेप किए गए, उनमें केबिनेट मंत्रियों, वाजपेयी के वक्त का पीएमओ स्टाफ, कॉरपोरेट मुखिया मुकेश अंबानी, अनिल अंबानी, अमिताभ बच्चन समेत अनेक ब्यूरोक्रेट्स के टेलीफोन शामिल हैं |

बता दें कि जिस समय एस्सार ग्रुप के ऊपर फोन टैपिंग का आरोप लगा हुआ है उस समय देश में एनडीए और यूपीए का शासन था | प्रधानमंत्री कार्यालय से इसकी शिकायत की गई है | टेलीफोन टैपिंग की इस घटना से इस बात का तो पता चलता है कि सत्ता के कॉरिडोर में व्यापार जगत और सरकार के बीच कितना गठजोड़ है |

एस्सार ग्रुप पर लगे गंभीर आरोप-
देश के प्रतिष्ठित अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने दावा किया है कि सुप्रीम कोर्ट के वकील सुरेश उप्पल ने इसी बीते 1 जून को इस मामले पर एक 29 पेज की शिकायत पीएमओ को भेजी है | जिसमें उन्होंने दावा किया है कि एस्सार ग्रुप के ही एक पूर्व अधिकारी ने उनसे यह बताया है कि वर्ष 2001 से लेकर 2006 तक पंडित अटल बिहारी वाजपेई की सरकार वाले मंत्रिमंडल के बेहद ख़ास मंत्रियों और तत्कालीन पीएमओ के अधिकारीयों के फोन टैप किये गए थे |

इन लोगों के फोन टैप करने का है आरोप-
सुरेश उप्पल ने दावा किया है कि 2001 से 2006 के दरमियान एस्सार ग्रुप ने वर्तमान रेल मंत्री सुरेश प्रभु, पूर्व मंत्री प्रफुल्ल पटेल, वर्तमान बिजली मंत्री पियूष गोयल, रिलायंस ग्रुप के मुखिया मुकेश अंबानी, टीना अंबानी और पीएमओ के अन्य अधिकारीयों के फोन टैप किये गए थे |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY