ईयू मामले पर जनमत संग्रह ब्रिटेन के अस्तित्व से जुड़ा विकल्प, काफी कुछ दांव पर लगा है : डेविड कैमरन

0
290

david cameron

प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने 23 जून को संडे टेलीग्राफ के लिए लिखे गए एक आलेख में कैमरन ने 23 जून को ब्रिटेन के ईयू से निकलने पर चेतावनी दी है | उन्होंने कहा यदि ब्रिटेन ईयू से निकलता है तो यह बहुत बड़ी गलती होगी इससे देश में अनियमितता का दौर शुरू होगा जो सालों तक कायम रह सकता है |

कैमरन ने कहा 23 जून को होने वाला जनमत संग्रह ब्रिटेन के लिए अस्तित्व से जुड़ा प्रश्न है, इस देश को एक बड़ा फैसला करना है और काफी कुछ दांव पर लगा हुआ है | यह स्वाभाविक है कि यदि हम संघ से निकले तो व्यापार को बड़ा नुकसान होगा | और ब्रिटेन में निवेश पर असर पड़ेगा, क्योंकि ब्रिटेन से ईयू तक कारोबारों की उसी तरह पहुंच सक्षम नहीं होगी। हमारी अर्थव्यवस्था छोटी हो जाएगी।’

उन्होंने कहा हालात सुधरने में एक दशक से भी अधिक का समय लग सकता है, महंगाई, गरीबी, रोजगार की कमी आदि बड़ी समस्याओं के उत्पन्न होने की पूरी संभावना है | ऐसे स्थिति में हम जानबूझ कर इसके लिए कैसे वोट कर सकते हैं ? हमें ऐसा जोखिम नहीं लेना चाहिए |

अमेरिका के बाद अब ब्रिटेन ने भी किया एनएसजी मुद्दे पर भारत का खुला समर्थन
गौरतलब है कि ब्रीग्जिट (ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से बाहर निकलने) के पक्षधर खेमे से ब्रिटेन के न्याय मंत्री माइकल गोव ने ईयू से बाहर होने पर भविष्य को लेकर भरोसा रखने की अपील की है। उन्होंने कहा, ‘लोगों को लोकतंत्र के लिए वोट करना चाहिए और ब्रिटेन को उम्मीद के लिए वोट करना चाहिए।’ उन्होंने इस सुझाव को भी खारिज कर दिया कि ईयू से निकलने के चलते मंदी आ जाएगी। ‘यदि हम बाहर निकलते हैं तो आर्थिक जोखिम होंगे, यदि बने रहते हैं तो भी आर्थिक जोखिम होंगे।’ ‘मेरी दलील है कि भविष्य में जो कुछ होगा, एक स्वतंत्र ब्रिटेन उनसे निपटने में बेहतर रूप से सक्षम होगा।’ महिला लेबर सांसद जो कोक्स की हत्या के बाद निलंबित जनमत संग्रह के लिए प्रचार रविवार को फिर से शुरू हुआ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here