चीन के साथ सीमा विवाद होने का बावजूद भी 40 साल में एक भी बार सीमा पर नहीं चली है गोली – मोदी

0
256

नई दिल्ली/सेंटपीटर्सबर्ग – रूस के प्रसिद्द शहर सेंटपीटर्सबर्ग में शुक्रवार को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर चीन के साथ सीमा विवाद होने के बावजूद भी दोनों देशों में किसी ने भी एक दूसरे के ऊपर बीते 40 सालों में एक भी गोली नहीं दागी है | पीएम मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय मंच पर बात करते हुए और मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा है कि आज दुनिया पहले के मुकाबले कही अधिक नजदीक आई है और इतना ही नहीं आज की दुनिया एक दूसरे पर निर्भर भी है |

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने सेंटपीटर्सबर्ग में इंटरनेशनल इकोनॉमिक फोरम में पैनल चर्चा के दौरान रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, ऑस्ट्रिया और माल्दोवा के नेताओं के साथ मंच साझा किया | इसी दौरान जब पीएम मोदी से चीन के वन बेल्ट वन रोड परियोजना पर भारत के साथ मतभेद के मामले पर सवाल पूछा गया तो उस सवाल का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने यह कहा है |

पीएम ने कहा है कि यह सच है कि भारत और चीन के मध्य सीमाविवाद है लेकिन यह भी सच है कि पिछले 40 सालों में दोनों देशों के मध्य सीमा विवाद होने के बावजूद भी सीमा पर एक भी गोली नहीं चली है | उन्होंने कहा है कि और रही बात वन बेल्ट वन रोड की तो चीन की यह परियोजना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से होकर गुजरती है, जिससे भारत प्रारंभ से ही अपना हिस्सा मानता रहा है | लिहाजा भारत ने अपनी संप्रभुता के मुद्दे का हवाला देते हुए चीन की इस परियोजना को लेकर हाल ही में आयोजित शीर्ष सम्मलेन का बहिष्कार किया था |

भारत और रूस के भावी संबंधों पर है दुनिया की नजर –
पीएम मोदी ने कहा है कि राष्ट्रपति पुतिन के साथ हुई उनकी शिखर वार्ता के बाद जो 24 पेज का सेंट पीटर्सबर्ग घोषणा पत्र दोनों ही नेताओं ने जारी किया है वह महज एक घोषणापत्र नहीं अपितु दोनों देशों के बीच के 70 से चले आ रहे पवित्र रिश्तों का एक दस्तावेज है | ऊन्होने कहा है कि मैं यह जानता हूँ कि विश्व हमारे संबंधों के भविष्य की दिशा को लेकर बेहद बारीकी से अध्ययन करेगा | पीएम ने यही बात करते हुए यह भी कहा है कि हम सबका साथ और सबका विकास में विश्वास करने वाले लोग है और हमारी यह नीति केवल और केवल देश में ही नहीं अपितु अंतर्राष्ट्रीय जगत में भी लागू होती है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here